मैगी के बाद PEPSI, COKE में मिले खतरनाक केमिकल

  • मैगी के बाद PEPSI, COKE में मिले खतरनाक केमिकल
You Are Herecompany
Thursday, October 06, 2016-11:54 AM

नई दिल्ली: मैगी में मोनोसोडियम ग्लूटामेट (एमएसजी) और लैड (सीसा) की भारी मात्रा पाई गई थी जिस वजह से उस पर बैन लगा दिया गया था। हाल ही में भारत में मैगी पर से बैन हटाया गया है वहीं अब पेप्सी और कोक पर संकट के बादल मंडरा रहे हैं। दरअसल पेप्सी और कोक की प्लास्टिक बॉटल में भी 5 तरह के खतरनाक जानलेवा तत्व मिले हैं। ये सभी तत्व सामान्य तापमान से ज्यादा होने पर पेय पदार्थ में घुलनशील हो जाते हैं। एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक, भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय और ड्रग तकनीकी सलाहकार बोर्ड ने मिलकर ये अध्ययन कराया था। अध्ययन के लिए पांच अलग-अलग बॉटल बतौर सैंपल लिए गए थे। जांच में पांच खतरनाक तत्व जो मिले उनमें है, भारी तत्व, लेड, क्रोमियम, कैडमियम और डाई पैथलेट।

ये अध्ययन पेप्पी, कोका कोला, माउंटेन ड्यू, स्प्राइट और 7अप की बोतल पर किया गया था। ये टेस्ट इसी साल फरवरी मार्च में कराए गए थे। इसमें पाया गया कि कमरे के तापमान पर भी ये खतरनाक तत्व प्लास्टिक की बोतलों से पिघलकर कोल्ड ड्रिंक्स में मिल जाते हैं। ये टेस्ट कोलकाता में स्थित ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हाइजीन एंड पब्लिक हेल्थ द्वारा आयोजित किया गया था जो कि भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के अंतर्गत आता है।

इसी संस्थान ने पिछली साथ एक रिपोर्ट और पेश की थी जिसमें दावा किया गया था कि जिन दवाओं को प्लास्टिक की बोतलों में पैक किया जाता है उनमें भी ये खतरनाक तत्व पाए गए। यानी बच्चों के आने वाली लगभग सभी दवाओं में इन खतरनाक तत्वों के मिल जाने का खतरा जताया गया था। वहीं इस मामले में पेप्सिको इंडिया के इंडिया प्रवक्ता ने कहा कि उन्हें न ही इस तरह की कोई जानकारी दी गई है और न ही किसी टेस्ट की रिपेार्ट दी गई है। बिना टेस्ट के तरीके को जाने हम किसी भी प्रकार की टिप्पणी नहीं कर सकते। हम यही कहना चाहते हैं कि हमारे सभी उत्पाद खाद्य सुरक्षा और मानकों के अनुकूल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You