रास्ते पर इन चीजों को लांघने से करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना

  • रास्ते पर इन चीजों को लांघने से करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना
You Are HereCuriosity
Tuesday, September 13, 2016-10:43 AM

विष्णु पुराण में जीवन को सुखी अौर खुशहाल बनाने के नियम बताए गए हैं। इन नियमों के पालन से भगवान विष्णु, महालक्ष्मी अौर सभी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त होती है। रास्ते पर जाते समय हमें बहुत सारी चीजें दिखाई देती हैं। उन के ऊपर से नहीं जाना चाहिए। ये चीजें व्यक्ति की पवित्रता को नष्ट कर देती हैं। रास्ते में दिखाई देने वाली इन चीजों से दूर रहना चाहिए। इनको पार करने से परेशानियों और दुखों का सामना करना पड़ता है।

 

स्नान के पश्चात फैला पानी

रास्ते पर जाते समय किसी के स्नान के पश्चात पानी फैला हुआ दिखाई दे तो उसके ऊपर से नहीं निकलना चाहिए। दूर से रास्ता पार करना चाहिए। स्नान के बाद का फैला हुआ पानी गंदा होता है अौर उसको पार करने से व्यक्ति की पवित्रता नष्ट होती है। 


अस्थियां

शास्त्रों के अनुसार मृत प्राणियों के स्पर्श से व्यक्ति अपवित्र हो जाते हैं अौर उनको स्नान करना पड़ता है। तभी किसी की शवयात्रा पर जाने के पश्चात स्नान किया जाता है। कई बार रास्ते में दुर्घटना होने के बाद जानवरों की मौत हो जाती है। उसके बाद उनकी  अस्थियां रोड या रास्ते पर ही बिखरी दिखाई दें तो दूर से रास्ता पार करके जाना चाहिए। इनके संपर्क में आने से व्यक्ति अपवित्र हो जाता है अौर उसका स्नान करना जरुरी होता है। 


बाल

बालों को भी अपवित्र माना जाता है। रास्ते में किसी व्यक्ति के बाल दिखाई देने पर उनके ऊपर से नहीं जाना चाहिए। दूर से रास्ता पार करना चाहिए। खाने पर बाल गिरने से खानी भी अपवित्र हो जाता है।

 

कांटे

रास्ते में कांटे दिखाई दें तो दूर से निकतला चाहिए। कांटे पांव में चुभ सकते हैं। हो सके तो कांटों को रास्ते से हटा देना चाहिए, जिससे दूसरों को कांटों से परेशानी न हो।

 

भस्म

यज्ञ या हवन के पश्चात की भस्म को जल में प्रवाहित करना चाहिए। कई बार लोगों ने रास्ते में भी भस्म फैंकी होती है। यदि जाते समय इस प्रकार की भस्म दिखाई दे तो उसके ऊपर से नहीं जाना चाहिए। भस्म पवित्र होती है अौर उस पर पैर लगना अशुभ माना जाता है।

 

अपवित्र वस्तु

रास्ते में जाते समय कई बार अपवित्र वस्तुएं दिखाई देती हैं। उनसे दूर रहकर ही रास्ता पार करना चाहिए। इस प्रकार की वस्तुअों के स्पर्श से शरीर अपवित्र हो जाता है। खासकर पूजा में जाते समय पवित्रता बनी रहे, इस बात का ध्यान रखना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You