आज का गुडलक- मंद पड़ी प्रोफैशनल लाईफ को देगा मुकाम

Saturday, October 07, 2017-7:12 AM

आज शनिवार दी॰ 07.10.17 कार्तिक माह व अश्विनी नक्षत्र के युग्मन हेतु विशेष सूर्य पूजन किया जाएगा। कार्तिक माह व अश्विनी नक्षत्र में सूर्य उपासना को श्रेष्ठ मानते है। ऋग्वेद में सूर्य को जगत की आत्मा, उपनिषद में ब्रह्म व पुराणों में द्वादश आदित्यों का महत्व है। विज्ञान भी इन्ही निष्कर्षों को मानता है कि सूर्य ही सौर्यमंडल का केंद्राधिपति है। ज्योतिष के अनुसार सूर्य कालपुरूष की आत्मा व नवग्रहों का राजा है। इसे आत्मा, पिता व कर्म का कारक मानते हैं। कालपुरुष सिद्धांतानुसार सूर्य व्यक्ति की कुंडली के भाव संख्या 1, 5 व 10 पर अपना कार्यकत्व रखता है। लाल किताब के अनुसार कुण्डली का 10वां भाव सूर्य का पक्का घर है। 10वें भाव से पिता, प्रोफैशन, करियर, कार्यस्थल, पितृपक्ष देखा जाता है। सूर्य के नीच होने या पीड़ित होने या ग्रहण लगने की स्थिति में करियर में विकट समस्याएं आती हैं, प्रोफैशनल लाईफ मंद पड़ती है, नौकरी नहीं लगती, कारोबार में असफलता मिलती है, पदोन्नति में समस्याएं आती हैं। सूर्य के विशेष पूजन व उपाय से नौकरी व कारोबार में सफलता मिलती है, छात्रों को प्रशासनिक सेवाओं व नेताओं को चुनाव जीतने में सफलता मिलती है। सूर्य के निमित व्रत में नमक का प्रयोग नहीं किया जाता। गायत्री मंत्र, सूर्य नमस्कार, अर्घ्य व आदित्य हृदय स्त्रोत का पाठ किया जाता है।


विशेष पूजन विधि: प्रातः काल में सूर्यदेव का विधिवत पूजन करें। औषध युक्त लाल तेल का दीप करें, गुलाब की अगरबत्ती करें, पीपल का पत्ता चढ़ाएं। गुलाब का फूल चढ़ाएं। रोली चढ़ाएं। गेहूं चढ़ाएं तथा इस विशेष मंत्र का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद गेहूं किसी जरूरतमंद को दान दे दें।


पूजन मुहूर्त: प्रातः 07:55 से प्रातः 09:25 तक।


पूजन मंत्र: ॐ हिरण्यगर्भाय नमः॥
 

आज का शुशाशुभ
आज का अभिजीत मुहूर्त:
दिन 11:45 से दिन 12:31 तक।


आज का गुलिक काल: प्रातः 06:21 से प्रातः 07:47 तक। 


आज का यमगंड काल: दिन 13:35 से शाम 15:02 तक।


आज का अमृत काल: दिन 11:09 से दिन 12:38 तक।


आज का राहु काल: प्रातः 09:14 से प्रातः 10:41 तक।


यात्रा महूर्त: दिशाशूल - पूर्व, राहुकाल वास - पूर्व। अतः आज पूर्व दिशा की यात्रा टालें।


आज का गुडलक ज्ञान

आज का गुडलक कलर: बैंगनी।


आज का गुडलक दिशा: पश्चिम।


आज का गुडलक मंत्र: ॐ लोकपालाय नमः॥


आज का गुडलक टाइम: शाम 17:30 से शाम 18:30 तक।


आज का बर्थडे गुडलक: बौद्धिक एकाग्रता हेतु किसी किताब के बीच में अशोक का पत्ता रखें।


आज का एनिवर्सरी गुडलक: झगड़ो से बचने हेतु देवी मंदिर में लाल गुडहल के फूल चढ़ाएं।


गुडलक महागुरु का महा टोटका: आरोग्यता हेतु जल में काले तिल मिलाकर सूर्य देव को अर्घ्य दें।


आज के गुडलक में बस इतना ही। कल गुडलक में हम आपको बताएंगे कैसे करवा चौथ पर देवी पार्वती से मिलेगा अखंड सौभाग्य का वरदान। 

 

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You