Live आज का गुडलक- इस मुहूर्त में करें पूजन, मिलेगा लंबी आयु का वरदान

You Are HereLent and Festival
Tuesday, October 10, 2017-7:16 AM

आज मंगलवार दी॰ 10.10.17 को कार्तिक भौम रोहिणी पर्व मनाया जाएगा। रोहिणी पर्व और व्रत महिलाओं द्वारा पति के लंबे जीवन हेतु मनाया जाता है। रोहिणी व्रत का संबंध रोहिणी नक्षत्र से है। जो हर महीने में एक बार आता है। भ्रचकर सारिणी के सताईस नक्षत्रों में से रोहिणी चौथा नक्षत्र है। रोहिणी नक्षत्र के स्वामी शुक्र और इनके पति चंद्र तथा देवता ब्रह्मा हैं। रोहिणी चंद्रमा की सबसे सुंदर और प्रिय पत्नी है। रोहिणी को वृष राशि का मस्तक मानते है। माह में जिस दिन सूर्योदय के समय रोहिणी नक्षत्र रहता है उस दिन रोहिणी पर्व मनाया जाता है। 


रोहिणी नक्षत्र में घी, दूध, जामुन का दान करने का विधान बताया गया है। जामुन के वृक्ष को रोहिणी नक्षत्र का प्रतीक माना गया है। कार्तिक भौम रोहिणी पर्व महालक्ष्मी, भगवान कृष्ण व चंद्रदेव को समर्पित है। इस पूजन में किसी प्राकृतिक जल स्रोत का पूजन किया जाता है। रोहिणी पर्व के विधिवत पूजन से सभी प्रकार के दुखों और गरीबी से छुटकारा मिलता है। रोहिणी नक्षत्र का पारण रोहिणी नक्षत्र समाप्त होने पर और मृगशीर्ष नक्षत्र के आने पर किया जाता है।


विशेष पूजन विधि: श्रीकृष्ण का विधिवत पूजन करें। चमेली के तेल का दीप जलाएं, गूगल धूप करें, लाल फूल चढ़ाएं। रक्त चंदन चढ़ाएं। दूध में शहद व तुलसी पत्र मिलाकर भोग लगाएं तथा लाल चंदन की माला से इस विशेष मंत्र का 1 माला जाप करें। पूजन के बाद भोग को जल प्रवाह करें।


पूजन मुहूर्त: प्रातः 08:15 से प्रातः 09:15 तक।


पूजन मंत्र: ॐ श्रीं श्रीधराय त्रैलोक्यमोहनाय नम:॥


आज का शुशाशुभ

आज का अभिजीत मुहूर्त: दिन 11:46 से दिन 12:33 तक।


आज का अमृत काल: प्रातः 09:12 से प्रातः 10:41 तक।


आज का राहु काल: शाम 15:00 से शाम 16:26 तक।


आज का गुलिक काल: दिन 12:07 से दिन 13:34 तक।


आज का यमगंड काल: प्रातः 09:15 से प्रातः 10:41 तक।


यात्रा मुहूर्त: आज दिशाशूल उत्तर व राहुकाल वास पश्चिम में है। अतः उत्तर व पश्चिम दिशा की यात्रा टालें।


आज का गुडलक ज्ञान

आज का गुडलक कलर: केसरी।


आज का गुडलक दिशा: दक्षिण।


आज का गुडलक मंत्र: श्रीं रोहिणीपतये चंद्राय नमः॥


आज का गुडलक टाइम: शाम 18:15 से शाम 19:15 तक।


आज का बर्थडे गुडलक: दुखों से मुक्ति पाने हेतु किसी जलाशय में दूध से अभिषेक करें।


आज का एनिवर्सरी गुडलक: जीवनसाथी की लंबी आयु हेतु लक्ष्मी-नारायण मंदिर में घी व गुड़ चढ़ाएं।


गुडलक महागुरु का महा टोटका: दरिद्रता से मुक्ति पाने हेतु लाल कपड़े में बंधे जामुन श्रीकृष्ण पर चढ़ाकर किसी भिखारी को दान करें।


आज के गुडलक में बस इतना ही। कल गुडलक में आपसे फिर मुलाक़ात होगी और हम आपको बताएंगे कैसे कार्तिक माह के बुधवार गणपती देंगे मंदबुद्धियों को बुद्धि का वरदान।

आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

Edited by:Aacharya Kamal Nandlal
यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You