11 सितंबर से की जाएगी केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना

  • 11 सितंबर से की जाएगी केदारनाथ धाम में पूजा-अर्चना
You Are HereDharm
Monday, September 02, 2013-2:27 PM

देहरादून: सरकार ने केदारनाथ धाम में आगामी 11 सितंबर से पूजा अर्चना शुरू करने पर सहमति दे दी है। प्रात: सात बजे से लेकर 11 बजे तक पूजा-अर्चना की जाएगी। मंदिर के कपाट अपने निर्धारित समय पर यानी दीवाली के उपरांत बंद हो जाएंगे। केदारनाथ यात्रा शुरू की जाए या नहीं, इस बाबत फैसला 30 सितंबर को सरकार व मंदिर समिति के बीच होने वाली बैठक में लिया जाएगा।


रविवार को सचिवालय में केदारनाथ धाम में पूजा शुरू करने को लेकर मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के नेतृत्व में मंदिर समिति, चार धाम विकास परिषद समेत मंत्रियों व शासन के अधिकारियों की बैठक हुई। बैठक के उपरांत पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने बताया कि मंदिर समिति और शंकराचार्य के प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में निर्णय किया गया है कि प्रात: सात बजे से लेकर 11 बजे तक पूजा-अर्चना की जाएगी।

मंदिर समिति के 24 सदस्य मंदिर पहुंचेंगे जो वहां 11 सितंबर से पूजा कार्य आरंभ करेंगे। प्रत्येक दस दिन के उपरांत इन सदस्यों में फेर बदल किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट करते हुए कहा कि अभी यात्रा शुरू नहीं की जा रही है क्योंकि अभी पैदल मार्ग का निर्माण कार्य हो रहा है।

केदारनाथ को पडऩे वाले सभी पैदल मार्गों पर पुलिस तैनात रहेगी। बहुगुणा ने बताया कि केदारनाथ में इस समय सिर्फ दो हेलीकॉप्टर उतारने की ही व्यवस्था है। इसी वजह से व्यवसायिक हेलीकॉप्टर का संचालन कार्य आरंभ नहीं किया जाएगा। 30 सितंबर के उपरांत इस संबंध में निर्णय लिया जाएगा।

केदारनाथ में बिजली व पानी की व्यवस्था ठीक ढंग से चल रही है मगर भवनों को ध्वस्त करने और मलबा उठाने का कार्य 11 सितंबर के उपरांत ही शुरू किया जाएगा। सरकार पूजा कार्य आरंभ कराने से पूर्व इस कार्य को शुरू नहीं करना चाहती है। केदारनाथ को नवीन रूप देने के लिए के यहां निर्माण कार्य जोरों पर है, जिसको मद्देनजर रखते हुए यहां नष्ट हो चुके भवनों को ध्वस्त करने के साथ-साथ भवनों का नवीनीकरण किया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You