नवरात्र में करें सिद्ध मंत्रों का जाप

  • नवरात्र में करें सिद्ध मंत्रों का जाप
You Are HereDharm
Tuesday, October 08, 2013-8:05 AM

शारदीय नवरात्रों के दिनों में ही दुर्गा पूजन का आरम्भ होता है। दुर्गा पूजन के साथ ही इन दिनों में तंत्र और मंत्र के कार्य भी किये जाते है। मंत्रों के अभाव में कोई भी साधाना अपूर्ण मानी जाती है। धर्म शास्त्रों के मतानुसार हर व्यक्ति को सुख-शान्ति पाने के लिये किसी न किसी ग्रह की उपासना करनी ही चाहिए।

ग्रहों को शान्त करने का एक मात्र उपाय ग्रहों की शान्ति करना है। इसके लिये यंत्र और मंत्र विशेष रुप से सहयोगी हो सकते है। माता के इन नौ दिनों में ग्रहों की शान्ति करना विशेष लाभ देता है। इन दिनों में मंत्र जाप करने से मनोकामनाएं शीघ्र पूरी होती हैं। नवरात्रि के पावन दिनों में विधि-विधान से इन सिद्ध मंत्रों का जाप करना चाहिए। ये मंत्र आपको सुख एवं शांति प्रदान करते हैं।

1 ॐ ह्रीं दुं दुर्गाय नमः।

2 ॐ ऐं वाग्देव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि, तन्नो देवी प्रचोदयात्‌।

3 ॐ महादेव्यै च विद्महे विष्णु पत्न्यै च धीमहि, तन्नो लक्ष्मीः प्रचोदयात्‌।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You