शीघ्र विवाह एवं विवाह में आ रही बाधाओं के निवारण के लिए

  • शीघ्र विवाह एवं विवाह में आ रही बाधाओं के निवारण के लिए
You Are HereDharm
Thursday, October 10, 2013-7:41 AM

कन्या के शीघ्र विवाह एवं मनोवांछित वर की प्राप्ति के लिए निम्नलिखित मन्त्र का जप किसी शुभ मुहूर्त में करने से शीघ्र फल की प्राप्ति होती है-

- भगवान् शिव एवं पार्वती जी के चित्र को चौकी पर लाल वस्त्र बिछा कर विराजमान करें और निम्नलिखित मन्त्र की पांच माला जप 41 दिनों तक करें :

मन्त्र : हे गौरी, शंकराद्र्धांगी यथा त्वं शंकरप्रिया। तथा
मां कुरुकल्याणी कान्तकान्तां सुदुर्लभाम्।।

- किसी शुभ मुहूर्त में माता कात्यायिनी के निम्नलिखित मन्त्र की 11 माला जप करें। बाद में प्रतिदिन एक माला 41 दिनों तक करें :

मन्त्र : कात्यायनि महामाये, महा योगिन्यधीश्वरि। नन्दगोपस्तुतं देवि, पतिं मे कुरुते नम:।।

- किसी शुभ मुहूर्त में निम्नलिखित मन्त्र का 11 माला जप करें। तत्पश्चात् एक माला प्रतिदिन 41 दिनों तक जप करें।
मन्त्र : सुनु सियं सत्य असीस हमारी। पूजहि मन कामना तुम्हारी।।

युवकों के लिए मनोरम पत्नी एवं शीघ्र विवाह के उपाय


एक पाटे पर लाल वस्त्र बिछा कर मां दुर्गा की तस्वीर रखें। उसके बाद लाल गुलाब उन्हें अर्पित करें और धूप-दीपादि से उनका पूजन करें। इसके बाद लाल चंदन की माला से 108 बार इस मन्त्र का प्रतिदिन जप करें :

मन्त्र : पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीं। तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम्।।

शुक्लपक्ष के मंगलवार से आरम्भ कर नौ दिनों तक रात्रि में सुन्दरकाण्ड का पाठ करना चाहिए। प्रथम दिन सुन्दर काण्ड का एक पाठ, दूसरे दिन दो तथा इसी क्रम में बढ़ाते हुए नौवें दिन नौ पाठ करें। इसके लिए पहले एक पाटे पर लाल वस्त्र बिछाकर हनुमान जी की प्रतिमा या चित्र स्थापित करें और उन्हें गुड़-चने का भोग लगाएं तथा धूप-दीपादि से उनका पूजन कर सुन्दरकाण्ड के पाठ का संकल्प लें। प्रयोग के दौरान भूमिशयन, ब्रह्मचर्य एवं पवित्रता का विशेष रूप से ध्यान रखें। इससे जिस युवक की सगाई बार-बार टूट जाती है, उसे सुयोग्य पत्नी की प्राप्ति होती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You