कैसे करें घर में लक्ष्मी का प्रवेश

  • कैसे करें घर में लक्ष्मी का प्रवेश
You Are HereDharm
Thursday, November 07, 2013-8:46 AM
जिस स्थान पर भगवान श्रीहरि की चर्चा होती है, जहां शंखध्वनि होती है, तुलसी का निवास रहता है व इनकी सेवा, वन्दना होती है, उनके गुणों का कीर्तन होता है, जहां भगवान व उनके भक्तों का यश गाया जाता है, वहीं पर सम्पूर्ण मंगलों को भी मंगल प्रदान करने वाली भगवती लक्ष्मी निवास करती हैं। कुछ ऐसे स्थान हैं जहां महालक्ष्मी कभी निवास नहीं करती जैसे

1 जहां ब्रह्मण, देवता और भक्तों की निंदा होती है। उस स्थान के प्रति महालक्ष्मी के मन में अपार क्रोध उत्पन्न हो जाता है।

2 जो महालक्ष्मी की उपासना नहीं करता तथा एकादशी और जन्माष्टमी के दिन अन्न खाता है।

3 जिस घर में अतिथि भोजन नहीं पाते।

4 जो कायर व्यक्तियों का अन्न खाता है, निष्प्रयोजन तृण तोड़ता है, नखों से पृथ्वी को कुरेदता रहता है, निराशावादी है, सूर्योदय के समय भोजन करता है, दिन में सोता मैथुन करता है और जो सदाचारहीन है।

5 जो अल्पज्ञानी व्यक्ति गीले पैर या नंगा होकर सोता है तथा निरन्तर बेसिर पैर की बातें बोलता रहता है।

6 जो सिर पर तेल लगाकर उसी से दूसरे के अंग को स्पर्श करता है, अपने सिर का तेल दूसरे को लगाता है तथा अपनी गोद में बाजा लेकर उसे बजाता है।

7 जो व्रत, उपवास, संध्या व भगवद भक्ति से हीन है।

8 जो दूसरों की निंदा तथा उनसे द्वेष करता है, जीवों की सदा हिंसा करता है व दयारहित है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You