अपने घर को ऐसा रूप दें जिसमें लक्ष्मी खुद-ब-खुद चली आएं

  • अपने घर को ऐसा रूप दें जिसमें लक्ष्मी खुद-ब-खुद चली आएं
You Are HereDharm
Wednesday, November 13, 2013-10:29 AM
लोग नया सामान तो ले लेते हैं पर पुराने का मोह नहीं छोड़ पाते। अनचाहे घरेलू सामान के संग्रह को ही कबाड़ कहा जाता है। घर का कबाड़ कहां, किधर और कैसे रखा है उससे उस घर में रहने वालों की आर्थिक, मानसिक और शारीरिक स्थिति का पता लग जाता है। फेंगशुई के अनुसार भी घर का कबाड़ ऊर्जा, हवा व प्रकाश के संतुलन पर विपरित प्रभाव डालता है और घर में नकारात्मक ऊर्जा का संचार करता है। वास्तु के अनुसार घर में पड़ा टूटा-फूटा सामान और कूड़ा कबाड़ होने से निगेटिव विचार मन में आते हैं। अपने घर को ऐसा रूप दें जिसमें लक्ष्मी खुद-ब-खुद चली आएं।

पूर्व घर की इस दिशा में घर का कबाड़ भरा हो तो घर के मालिक को किसी अनहोनी का सामना करना पड़ता है।

आग्नेय इस स्थान पर घर का कबाड़ रखने से आमदनी घर के खर्चे से कम होने पर कर्ज बना रहता है।

दक्षिण बेडरूम में इस दिशा में कबाड़ रखा जाए तो मालिक के भाई को कठिनाईयों और खतरों का सामना करना पड़ता है। घर के मुखिया की बातचीत में घंमड और अंहकार झलकता है और वह भविष्य में शक्ति विहिन होकर अशांत रहता है।

नैऋत्य घर में कबाड़ रखने का सबसे उत्तम स्थान यही होता है परंतु ध्यान रहें यहां पर किसी भी प्रकार की नमी या सीलन नहीं होनी चाहिए। कमरे में रोशनदान भी अवश्य होना चाहिए। यदि यहां कम रोशनी या अंधेरे के साथ ही नमी हो और कबाड़ भी रखा गया हो तो ऐसी स्थिति में घर वालों को भूत प्रेत होने का एहसास होता है।

पश्चिम इस दिशा में पुरानी त्यागी हुई वस्तुएं रखी जाएं जैसे जो खिड़की दरवाजे टूटी फूटी हालत में हो। दीवारे खराब हो तो यहां रहने वाले घर के सदस्य प्रत्येक काम को धीरे धीरे करते हैं और उनमें समझ की कमी होती है। आमदनी का जरीया धोखा और फरेब होता है और घर का मुखिया गलत लोगों की संगत में रहता है,परिवार में हमेशा विवाद होते हैं और पारिवारिक सदस्य एक दूसरे पर आरोप लगाते रहते हैं।

वायव्य घर की इस दिशा में यदि कबाड़ रखा जाता है तो उस घर के मुखिया को अपने मित्रों की शत्रुता की जिम्मेदारी स्वयं उठानी पड़ती है। मुखिया का मन विचलित रहता है और मानसिक अशांति बनी रहती है। घर की मालकीन को कफ, कोल्ड और गैस की शिकायत रहती है।

उत्तर यहां पर कबाड़ रखा हो तो घर के मुखिया का अपने भाईयों के साथ मन मुटाव बना रहता है।

ईशान यहां पर यदि कबाड़ रखा जाए तो घर में रहने वालों को जोड़ों के दर्द की समस्या बनी रहती है और वो नास्तिक प्रवृति के होते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You