इससे घर में शांति उत्पन्न होती है

  • इससे घर में शांति उत्पन्न होती है
You Are HereDharm
Tuesday, December 10, 2013-9:36 AM

1 पूजा सुबह 06 से 08 बजे के बीच भूमि पर ऊनी आसन बिछा कर पूर्व या उत्तर की ओर मुंह करके बैठ कर करनी चाहिए।

2 घर में सपन्नता लाने के लिए पूजा घर के पास ईशान कोण में सदैव जल का एक कलश भरकर रखें।  

3 घर में कभी भी झाड़ू को खड़ा करके नहीं रखें, उसे पैर नहीं लगाएं, न ही उसके ऊपर से गुजरे अन्यथा घर में बरकत की कमी हो जाती है।

4  धूप, आरती, दीप, पूजा अग्नि जैसे पवित्रता के प्रतिक साधनों को मुंह से फूंक मारकर नहीं बुझाएं।

5 मंदिर में धूप, अगरबत्ती व हवन कुंड की सामग्री दक्षिण पूर्व में रखें।

6 घर के मुख्य द्वार पर गणेश जी को चढ़ाए गए सिंदूर से दायीं तरफ स्वास्तिक बनाएं।
  
7 घर में जूते-चप्पल इधर-उधर बिखेर कर या उल्टे सीधे करके नहीं रखने चाहिए इससे घर में अशांति उत्पन्न होती है।

8 शाम के समय सोना नहीं चाहिए। रात्रि में सोने से पहले अपने इष्टदेव का सिमरण अवश्य करें।

9  घर में पढ़ने वाले बच्चों का मुंह पूर्व तथा पढ़ाने वाले का उत्तर की ओर होना चाहिए।

10 घर के मध्य भाग में जूठे बर्तन साफ करने का स्थान नहीं बनाना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You