सरस्वती मंत्र से परीक्षाओं में स्मरण शक्ति बढ़ाएं

  • सरस्वती मंत्र से परीक्षाओं में स्मरण शक्ति बढ़ाएं
You Are HereDharm
Thursday, February 06, 2014-7:55 AM

जिन विद्यार्थियों के पंचम भाव (विद्या) में पापी ग्रह एवं ग्रहों की दृष्टि पड़ती हो, याद करने में कमजोर हो या परीक्षा के समय घबराहट से स्मृति क्षीण हो जाती हो। बुध या गुरु अष्टम बारहवें भाव में हो तो निम्न मंत्र आशाजनक परिणाम प्रदान करते हैं :

ऐं ह्रीं श्रीं वद वद कीर्तिश्वरी स्वाहा।।

 या        

ॐ ऐं कुलजे ऐं सरस्वती स्वाहा॥

उक्त दोनों मंत्र या एक मंत्र श्रद्धानुरूप ब्रह्म मुहूर्त में जब ऊर्जा का प्रभाव मन मस्तिष्क पर रहता है एक सौ आठ बार या सात मिनट प्रतिदिन करना चाहिए। पाठ के पश्चात मां सरस्वती के चित्र पर सफेद सुगंधित पुष्प अर्पित करें एवं प्रथम भोजन के रूप में दो केले, दही मिश्री में मिलाकर भोग लगाकर ग्रहण करें।

सूर्यास्त के समय अध्ययन न करें। उक्त मंत्र का प्रारंभ बुध या वीरवार या पुष्य नक्षत्र से करने का शास्त्रोक्त विधान है। ऊनी आसन पर बैठकर करने से सकारात्मक ऊर्जा प्रवाहित होती है। 43 दिवस पश्चात इन मंत्रों का जप उठते-बैठते, चलते-फिरते भी कर सकते हैं। सरस्वती की असीम कृपा प्राप्त होती है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You