शनि देव को खुश करें अपनी राशि के अनुसार

  • शनि देव को खुश करें अपनी राशि के अनुसार
You Are HereDharm
Saturday, February 08, 2014-7:49 AM

शनिदेव का नाम या स्वरूप ध्यान में आते ही मनुष्य भयभीत अवश्य होता है लेकिन, कष्ट, दुख अथवा तकलीफ आने पर जब शनिदेव से प्रार्थना की जाए तो उनका स्मरण करने से वे समस्त संकटों का निवारण कर मुक्ति का मार्ग प्रश्स्त करते हैं। अगर शनि की साढ़े सती चल रही हो अथवा शनि नीच का होकर आपकी कुंडली में मेष राशि में हो या चंद्र युक्त हो तो राशि के अनुसार यह उपाय करेें कार्य में आ रही अड़चनें दूर होंगी। स्वास्थ्य लाभ होगा और कर्जे से भी मुक्ति मिलेगी।

मेष : मेष राशि के जातक अपनी क्षमता अनुसार शनि देव के मंत्र प्रां प्रीं प्रौं स: शनैश्चराय नम: का जाप करें।

वृषभ :
वृषभ राशि के जातक शनिदेव को तेल चढ़ाएं।

मिथुन :
मिथुन राशि के जातक शनि जयंती के दिन घोड़े की नाल या नाव के पेंदी की कील का छल्ला मध्यमा अंगुली में पहनें।

कर्क : कर्क राशि के जातक एक बार किसी वस्त्र को धारण करने के पश्चात किसी गरीब अथवा जरूरतमंद को दान स्वरूप दें।

सिंह : सिंह राशि के जातक शनिवार के दिन किसी जरूरतमंद अथवा गरीब व्यक्ति को भोजन करवाएं।

कन्या : कन्या राशि के जातक पांच लोहे की वस्तु, अन्न और तेल गरीब व्यक्ति को दान स्वरूप दें।

तुला : तुला राशि के जातक बच्चों को दूध का दान करें।

वृश्चिक : वृश्चिक राशि के जातक अपनी क्षमता अनुसार जौ गौशाला या कुष्ठ रोगियों को दान स्वरूप दें।

धनु : धनु राशि के जातक गले में ठोस लोहे की गोली नीले रंग के धागे में पिरोकर पहन लें।

मकर : मकर राशि के जातक शनिवार के दिन तिल के लड्डूू, उड़द की दाल, मीठी पूड़ी बनाकर श्री शनिदेव को भोग लगाने के उपरांत गरीबों में बांट दें।

कुम्भ :
कुम्भ राशि के जातक शनि जयंती को 21 मुट्ठी उड़द नीले कपड़े में लपेट कर अपने ऊपर से घुमा कर चलते पानी में प्रवाहित कर दें।
.
मीन :
मीन राशि के जातक सरसों की खली समय समय पर गौशाला में दान दें।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You