दुर्गा अष्टमी पर कन्याओं को मान सम्मान देने का लिया संकल्प

You Are HereDharm
Monday, April 07, 2014-4:55 PM

दुर्गा अष्टमी को लेकर रादौर के प्राचीन देवी मंदिर के दर पर माथा टेकने के लिए श्रद्धालुुओं की लम्बी कतारे देखने को मिली। इस मौके पर जहां श्रद्धालुओं ने मंदिर में माथा टेककर मन्नते मांगी वहीं मंदिर के पुजारी सुरेश शुक्ला ने श्रद्धालुओं से अपील  करी की दुर्गा अष्टमी का त्यौहार मनाना तब तक सार्थक नहीं है जब तक समाज में कन्याओं  को पुरा मान सम्मान नहीं दिया जाता।

दुर्गा अष्टमी के अवसर पर रादौर के प्राचीन देवी के मंदिर मे माथा टेकने पहुंचे इन श्रद्धालुओं ने जहां माथा टेककर मन्नते मांगी,वही इस मौके पर इन श्रद्धालुओं ने समाज में कन्याओं को पुरा मान सम्मान देने का संकल्प भी लिया। आप को बता दें कि दुर्गा अष्टमी पर कन्याओं का पूजन कर उन्हें भोजन कराकर पुण्य कमाने का रिवाज बेहद पुराना है लेकिन कन्या भूर्ण हत्या के चलते बेटियों की संख्या लगातार घट रही है,जिसके चलते अब स्थिति यह है की कंजक पूजन में कन्याओं की कमी साफ़ नजर आने लगी है। जिसको लेकर ही आज देवी मंदिर के पुजारी सुरेश शुक्ला ने मंदिर मे माथा टेकने पहुंचे श्रद्धालुओं को कन्याओं को मान सम्मान देने व कन्या भ्रूण हत्या न करने का संदेश भी दिया।

वहीं श्रद्धालुओं ने भी माना की दुर्गा अष्टमी मनाने का भी तभी फायदा है जब हम कन्याओं को समाज में पूरा सम्मान देंगे और कन्या भ्रूण हत्या जैसी सामाजिक बुराई को दूर करेंगें।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You