आज बद्रीनाथ धाम के कपाट होंगे बंद, 'फूल श्रृंगार' दर्शन के लिए आए श्रद्धालु

  • आज बद्रीनाथ धाम के कपाट होंगे बंद, 'फूल श्रृंगार' दर्शन के लिए आए श्रद्धालु
You Are HereDharmik Sthal
Wednesday, November 16, 2016-3:02 PM

आज दोपहर 3.45 पर ठंड का मौसम आरंभ होते ही श्री बद्रीनाथ धाम के कपाट बंद कर दिए जाएंगे। कपाटबंदी से पूर्व विशिष्ट पूजन का आरंभ हो गया है। इन पलों को यादगार बनाने के लिए संपूर्ण मंदिर को फूलों से सजाया गया है। भगवान बद्रीनाथ के आभूषण उतार दिए गए हैं और उनके स्थान पर फूलों से श्रृंगार किया गया। इस मनोरम दर्शन का आनंद लेने हजारों श्रद्धालु बद्रीनाथ में उपस्थित हैं। 


कल शाम बद्रीनाथ धाम के मुख्य पुजारी ने श्री लक्ष्मी मंदिर में देवी लक्ष्मी का पूजन किया तत्पश्चात उन्हें शीतकाल के लिए मंदिर के गर्भगृह में भगवान नारायण के साथ विराजित होने का निमंत्रण दिया। पूजन के समय धर्माधिकारी सहित वेदपाठियों व डिमरी पुजारियों ने मां लक्ष्मी की स्तुति करी।

मंदिर की कपाट बंदी को स्मरणार्थ बनाने के लिए अलकनंदा नदी पर अवस्थित पुल से बद्रीनाथ मंदिर तक फूलों के सुंदर द्वार सजाए गए हैं। मंदिर का भी फूलों से भव्य श्रृंगार किया गया है। ऋषिकेश से कुछ श्रद्धालु प्रतिवर्ष कपाट बंद होने व खुलने के वक्त बदरीनाथ धाम आते हैं और मंदिर को फूलों से सजाते हैं। बद्रीनाथ धाम में श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। अनुमान लगाया जा रहा है की कपाट बंद होने से पहले लगभग पांच हजार श्रद्धालु धाम में मौजूद रहेंगे। फूलों से भगवान का श्रृंगार होने के कारण इस दिन को 'फूल श्रृंगार' के नाम से भी जाना जाता है।


यहां हम आपको बताना चाहेंगे की बीते मंगलवार 15 नवंबर को वेद मंत्रोच्चारण के साथ दोपहर में आदि केदारेश्वर मंदिर के कपाट बंद कर दिए गए हैं। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You