आचार्य चाणक्य की इस बात पर करें अमल वरना झेलना पड़ेगा अशुभ परिणाम

  • आचार्य चाणक्य की इस बात पर करें अमल वरना झेलना पड़ेगा अशुभ परिणाम
You Are HereDharm
Tuesday, July 18, 2017-9:47 AM

आचार्य चाणक्य एक बड़े दूरदर्शी विद्वान थे। चाणक्य जैसे बुद्धिमान, रणनीतिज्ञ, चरित्रवान व राष्ट्रहित के प्रति समर्पित भाव वाले व्यक्ति भारत के इतिहास में ढूंढने से भी बहुत कम मिलते हैं। इनकी नीतियों में उत्तम जीवन का निर्वाह करने के बहुत से रहस्य समाहित हैं, जो आज भी उतने ही कारगर सिद्ध होते हैं। जितने कल थे। इन नीतियों को अपने जीवन में अपनाने से बहुत सी समस्याओं से बचा जा सकता है। चाणक्य ने अपनी एक नीति में बताया है कि व्यक्ति को ऐसे कार्य नहीं करने चाहिए, जिससे अशुभ परिणाम की आशंका हो। 

दुरनुबन्धं कार्य नारभेत्।

भावार्थ:राजा को कार्य करने से पूर्व यह सोच लेना चाहिए कि इसका फल अथवा परिणाम क्या होगा। यदि ऐसे कार्य से अशुभ परिणाम की आशंका हो तो वह कार्य नहीं करना चाहिए।
 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You