सुख-शांति चाहते हैं तो राशि अनुसार करें घर की सजावट

  • सुख-शांति चाहते हैं तो राशि अनुसार करें घर की सजावट
You Are HereDharm
Thursday, July 20, 2017-10:35 AM

अक्सर लोग अपने घरों को कई चीजों से सजाते हैं। जिसके लिए वे अलग-अलग रंगों, पर्दों, सजावटी समान आदि का प्रयोग करते हैं। यदि घर की सजावट राशि के अनुसार की जाए तो व्यक्ति का जीवन खुशियों से भरा रहेगा। इसके साथ ही घर में सुख-शांति बनी रहेगी अौर सुख-समृद्धि की भी प्राप्ति होती है।

मेष: इसका तत्व अग्रि तथा स्वामी ग्रह मंगल है। इस राशि के लोगों के लिए लाल, गुलाबी और ऑरेंज रंग का प्रयोग अच्छा होता है। इसमें वे उसी रंग के बैड कवर, चादर, कपड़े, गहने, पर्दे आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं परंतु अपने कमरे के दक्षिणी-पश्चिमी कोने का ध्यान अवश्य रखें।

वृषभ:इस राशि का तत्व पृथ्वी है। वृषभ राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है। इस राशि के व्यक्ति दीवारों के लिए चमकीले और भड़कीले कोई भी रंग का प्रयोग कर सकते हैं या फिर वैसे ही रंग के सोफा कवर या पिलो कवर लगा सकते हैं। उनके लिए दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य दिशा) में भारी वजन के फर्नीचर रखना अच्छा होता है। इससे उनके घर में शांति और सुरक्षा बनी रहती है अौर सुख-समृद्धि की भी प्राप्ति होती है। 

मिथुन:इसका चिन्ह युगल युवा दंपति है। इसका तत्व वायु है। बुध इसका स्वामी ग्रह है। इस राशि के लोग कमरों में हल्का हरा, हल्का नीला और लाल रंग का प्रयोग कर सकते हैं। इसमें वे उन रंगों को प्रधानता देकर ही परिधान पहनें। उनके लिए उत्तर-पश्चिम (वायव्य) दिशा में हल्के सामान या फर्नीचर रखना अच्छा है।

कर्क:इस राशि का प्रतीक केकड़ा है और तत्व जल है। स्वामी ग्रह चंद्र है। इनके लिए सफेद, दूधिया और रुपहला रंग ज्यादा अच्छा होता है क्योंकि यह चंद्रमा के जैसे सफेद होते हैं लेकिन इनका तत्व जल होने की वजह से कमरे के उत्तर-पूर्व (ईशान) दिशा के कोने में पानी का घड़ा या बहता हुआ पानी का चित्र अवश्य होना चाहिए ताकि घर में अचानक कोई पानी की दुर्घटना न हो।

सिंह:इसका प्रतीक सिंह है। तत्व अग्रि है, स्वामी ग्रह सूर्य है। इस राशि के व्यक्ति के लिए सफेद, चमकदार रुपहला और सुनहरा पीला रंग ज्यादा उपयुक्त रहता है। इस रंग के वस्त्र या सजावट की वस्तुएं वे घर में रख सकते हैं। ऐसे व्यक्तियों के लिए घर का कोना महत्वपूर्ण होता है। दक्षिण-पूर्व (आग्नेय) दिशा की ओर ही किचन का काम करें ताकि उस राशि के व्यक्ति की आग से किसी भी प्रकार की दुर्घटना न हो।

कन्या:इसका तत्व पृथ्वी है। बुध इसका स्वामी ग्रह है। हल्का हरा, हल्का नीला और लाल रंग इनके लिए शुभ होता है। ये या तो इस प्रकार के वस्त्र पहनें या फिर घर की सजावट  में इन्हीं रंगों का अधिक प्रयोग करें। ऐसे व्यक्ति के कमरे के दक्षिण-पश्चिम (नैऋत्य) कोने पर वजनदार फर्नीचर या सामान रख सकते हैं, जो उनके घर में खुशहाली लाते हैं।

तुला:वायु इस राशि का तत्व है और स्वामी ग्रह शुक्र है। चमकदार रंग, जिसमें कंट्रास्ट मैच हो, इनके लिए अच्छा होता है। ऐसे व्यक्ति इस प्रकार के पर्दे, सोफा कवर या पिलो कवर का इस्तेमाल कर सकते हैं। इनके लिए उत्तर-पश्चिम (वायव्य) कोना शुभ है। वहां वे हल्के वजन के सामान या सजावट की वस्तुएं रख सकते हैं ताकि इनके जीवन में किसी प्रकार की चिंता का समावेश न हो।

वृश्चिक:इस राशि का तत्व जल है। मंगल इसका स्वामी ग्रह है। लाल, गुलाबी और ऑरेंज इसके शुभ रंग हैं। इस राशि के व्यक्ति को अधिक से अधिक इन्हीं रंगों के कपड़े, गहने आदि का प्रयोग करना चाहिए। महिलाएं इन रंगों की बिंदी भी लगा सकती हैं। उत्तर-पश्चिम दिशा में ये जातक पानी की व्यवस्था अवश्य रखें। चाहें तो चांदी के घड़े में पानी भरकर मोती की माला से सजा सकते हैं। इससे संतान की शिक्षा, कामयाबी और समृद्धि में मदद मिलती है।

धनु:धनु राशि का तत्व अग्रि है। गुरु इस राशि का स्वामी ग्रह है। इस राशि के व्यक्ति के लिए पीला रंग शुभ होता है। अग्रि या ज्वलनशील पदार्थ को ये हमेशा दक्षिण-पूर्व (आग्रेय) दिशा की ओर रखें। इसमें वे रोज मिट्टी का दीया भी जला सकते हैं।

मकर:मकर राशि का तत्व पृथ्वी है। शनि इसका स्वामी ग्रह है। इस राशि के व्यक्ति गहरा नीला, गहरा हरा, काला और भूरे रंग का प्रयोग कर सकते हैं। इन रंगों के चादर, सोफा कवर, पर्दे आदि सभी के प्रयोग से अच्छे परिणाम मिलते हैं। ऐसे व्यक्ति भारी फर्नीचर या सामान दक्षिण कोने की ओर रखें।

कुंभ:इसका तत्व वायु है। शनि इसका स्वामी ग्रह है। गहरा नीला, गहरा हरा, काला और भूरा रंग इनके लिए शुभ है। ऐसे व्यक्ति कमरे की दीवारों एवं सजावट की वस्तुओं के लिए इन रंगों का प्रयोग कर सकते हैं। इससे उन्हें सफलता मिलेगी। घर के हल्के सामान या वस्तुएं हमेशा उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर रखें

मीन:इसका तत्व जल है और गुरु इसके ग्रह का स्वामी है। इनका शुभ रंग पीला है इसलिए इन्हें अधिक से अधिक पीले रंग का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसे व्यक्ति के कमरे के उत्तर-पूर्व कोने में पानी का भंडारण करना चाहिए या फिर बहते हुए पानी का चित्र टांग सकते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You