जिस घर में दीवाली पर होते हैं ये काम, लक्ष्मी कभी नहीं जाती बाहर

  • जिस घर में दीवाली पर होते हैं ये काम, लक्ष्मी कभी नहीं जाती बाहर
You Are HereCuriosity
Sunday, October 30, 2016-9:10 AM

आज दीवाली का शुभ दिन है, लगभग हर घर में लक्ष्मी पूजन की तैयारियां सुबह से शुरू हो जाती हैं। कुछ ऐसे काम हैं जो दीवाली पर किए जाएं तो लक्ष्मी कभी नहीं जाती घर से बाहर। तो आईए जानें दीवाली पर क्या करें ?


* घर की साफ-सफाई करें। प्रवेश द्वार पर घी और सिंदूर से आेम या स्वास्तिक का चिन्ह बनाएं।


* सायंकाल खीलें, बताशे, अखरोट, पांच मिठाई, कोई फल पहले मंदिर में दीपक जला कर चढ़ाएं।


* दीवाली वाले दिन मिट्टी या चांदी की लक्ष्मी जी की मूर्ति खरीदें। एक नया झाड़ू लेकर किचन में रखें ।


लक्ष्मी पूजन करें
बहियों, खातों,  पुस्तकों, पैन, स्टेशनरी, तराजू, कम्प्यूटर या वह वस्तु जिसे आप रोजगार के लिए प्रयोग करते हैं, की पूजा करें।


देहली पूजन
प्रवेश द्वार पर सिंदूर से स्वस्तिक बनाएं या आेम गणेशाय नम: या शुभ लाभ लिखें। दीया जलाएं।


लेखनी पूजन
पैन, स्टेशनरी, कम्प्यूटर, कैल्कुलेटर, बही-खाते आदि पर केसर युक्त चंदन से स्वास्तिक बनाएं, मौली लपेटें, सरस्वती जी का ध्यान करें। धूप-दीप करें। विद्यार्थी अपनी पुस्तकों, नोट बुक पर भी एेसा ही करें। 

 
कुबेर पूजन
तिजोरी, कैश बॉक्स, लाकर आदि पर स्वस्तिक चिन्ह बना कर कुबेर को नमस्कार करें और धन की कामना करें। तुला, मानक, कम्प्यूटर, नोट काऊंटिंग मशीन पर सिंदूर से स्वस्तिक बनाएं,  शुभ-लाभ लिखें, मौली लपेटें, पूजन करें।


दीप माला
5 या 7 या 11 दीपक प्रज्ज्वलित करें। लक्ष्मी गणेश जी की आरती करें।  इन दीपकों को घर के कोने-कोने में रखें। एक मंदिर में जला आएं।


प्रसाद बाटें
खीलें, गुड़ के बने खिलौने और सूखे मेवे।


श्री यंत्र अभिमंत्रण, किसी यंत्र का निर्माण व लेखनी पूजन विशेष मुहूर्त में करें। 


हवन करें : पूजा के पश्चात हवन एवं आरती कर सकते हैं।


विशेष: दीवाली पर जलता हुआ दीपक भूल से भी न बुझाएं। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You