बृहस्पतिवार को किया गया ये काम, संतान के भविष्य के साथ करता है खिलवाड़

  • बृहस्पतिवार को किया गया ये काम, संतान के भविष्य के साथ करता है खिलवाड़
You Are HereJyotish
Wednesday, February 15, 2017-9:44 AM

बृहस्पति देवता की कृपा से विद्या, खूबसूरती, विदेश यात्रा, संतान सुख, कुशाग्र बुद्धि मिलती है। गुरूवार को बृहस्पति देव की पूजा करने से धन, विद्या, पुत्र तथा मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है। परिवार में सुख तथा शांति का समावेश होता है। जिन जातको के विवाह में बाधाएं उत्पन्न हो रही हो उन्हें गुरूवार का व्रत करना चाहिए। कुछ ऐसे काम हैं जो माता-पिता को बृहस्पतिवार के दिन नहीं करने चाहिए अन्यथा वह अपने हाथों से संतान के भविष्य के साथ खिलवाड़ करते हैं। घर का कबाड़ नहीं बेचना चाहिए और न ही कपड़े धोने चाहिए। ऐसा करने से घर का ईशान कोण कमजोर होता है। जिससे बच्चों का मन उचाट रहता है, पढ़ाई में ध्यान नहीं लगता, याद किया वक्त पड़ने पर काम नहीं आता और करियर संबंधी बाधाएं आने लगती हैं।


दीपदान से खुलेंगे करियर के हजारों ऑप्शन 
बृहस्पतिवार को श्री हरि विष्णु के मंदिर में शुद्ध गाय के घी का दीपक जलाएं अथवा केले के पेड़ पर सरसों के तेल का दीपदान करें। करियर में आ रही रूकावटें दूर होंगी और सभी मनोकामनाएं पूर्ण होंगी। 


बृहस्पतिवार को किया गया ये उपाय लाता है गुडलक
श्री हरि विष्णु मंदिर में गुलाब की अगरबत्तियों के पांच पैकेट लेकर जाएं। प्रत्येक पैकेट में से एक-एक अगरबत्ती निकाल लें। 5 अगरबत्ती जलानी हैं और बाकी की वहीं छोड़ आएं। इस उपाय को हर गुरूवार करने से आपका गुडलक बढ़ेगा, गुरू ग्रह अच्छा होगा धन आगमन के स्त्रोत बनने लगेंगे।


कुंडली में गुरु देने लगेगा शुभ फल
कुंडली में गुरु अशुभ प्रभाव दे रहा है तो दूध में चीनी, केसर या हल्दी मिश्रित कर शाम के समय ऊँ नम: शिवाय: मंत्र का जाप करते हुए शिवलिंग पर अर्पित करें। इससे गुरु शुभ फल देने लगेगा। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You