छींक बनाएगी धनवान या कंगाल, जानें कब और कैसे पड़ता है इसका प्रभाव

  • छींक बनाएगी धनवान या कंगाल, जानें कब और कैसे पड़ता है इसका प्रभाव
You Are HereDharm
Friday, April 14, 2017-1:33 PM

छींक एक स्वभाविक प्रकिया है, इसका आना आम धारणा के अनुसार अशुभता का संकेत माना जाता है। ज्योतिषशास्त्रियों की मान्यता के अनुसार छींक का आना अशुभ नहीं शुभ होता है लेकिन वक्त का ध्यान अवश्य रखना चाहिए। नाक या श्वसन तंत्र में किसी अवांछित पदार्थ के आने से छींक आती है जिससे नाक साफ हो जाती है। छींक आने का मतलब किसी संक्रामक रोग के हमले की सूचना भी हो सकता है, परंतु प्राचीनकाल से ही लोगों में छींक को लेकर तरह-तरह की धारणाएं हैं। छींक आपको धनवान या कंगाल भी बना सकती है। आपके दाएं हाथ की तरफ से कोई छींक मारे तो धन संबंधित समस्या से रूबरू होना पड़ता है।


नए कपड़े पहनते वक्त छींक आ जाए तो ये संकेत है की आपकी अलमारी में और भी नए वस्त्र अपना स्थान बनाने की तैयारी में हैं।


आमतौर पर माना जाता है की अवश्यक काम के लिए जा रहे हों और कोई छींक दे तो कार्य में सफलता नहीं मिलती लेकिन ऐसा गलत है।


अच्छा काम करते समय छींक आ जाए तो अशुभ होता है लेकिन एक साथ दो छींक आ जाएं तो मंगलसूचक होता है।


रोगी को दवाई खाते समय छींक आ जाए तो वो जल्दी ही रोग मुक्त हो जाता है।


भोजन ग्रहण करने के उपरांत छींक आ जाए तो स्वादिष्ट भोजन की प्राप्ति होती है।


सोने से पूर्व और जागने के तुरंत बाद छींक की ध्वनि सुनना अशुभ होता है।


कुछ नया खरीदते समय, नए घर में प्रवेश करते समय छींक आना अपशकुन का प्रतीक है लेकिन व्यापार शुरू करते समय छींक आ जाए तो शुभ माना जाता है।


आपकी पीठ के पीछे से या बाईं ओर से कोई छींक मारे तो यह शुभता का संकेत देती है। 

 
आपके सामने कोई छींक मारे तो समझ जाएं जल्द ही किसी के साथ आपकी लड़ाई होगी।
 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You