भगवान श्री कृष्ण ने अपनाए थे सुखी गृहस्थी के ये 3 सूत्र, आप भी आजमाएं

  • भगवान श्री कृष्ण ने अपनाए थे सुखी गृहस्थी के ये 3 सूत्र, आप भी आजमाएं
You Are HereDharm
Tuesday, November 22, 2016-1:25 PM

भगवान श्री कृष्ण का जीवन आदर्श गृहस्थी का सर्वश्रेष्ठ उदाहरण है। कहते हैं श्री कृष्ण की 16 हजार से अधिक रानियां थीं। इनमें से तीन प्रमुख थीं। इसके बाद भी श्री कृष्ण के दाम्पत्य में कभी आप अशांति नहीं पाएंगे क्योंकि श्री कृष्ण सुखी गृहस्थ जीवन के गूढ़ रहस्यों को जानते थे। गृहस्थ जीवन के इन्हीं प्रमुख सात सूत्रों के बारे में श्रीमद् भागवत में विस्तृत वर्णन किया गया है, जो श्री कृष्ण ने संसार को दिए हैं। 


सुखी गृहस्थ जीवन का पहला सूत्र है संयम। पति-पत्नी के बीच में संयम होना अति आवश्यक है। यदि पति-पत्नी के जीवन में संयम होगा तो जीवन आनंदमय कटेगा। 


दाम्पत्य का दूसरा सूत्र है संतुष्टि। संतोष के अभाव में दाम्पत्य का सुखमय होना मुश्किल है। इसी प्रकार सुखी गृहस्थ जीवन के अन्य सूत्र जो श्री कृष्ण ने दिए हैं वे हैं संतान, संवेदनशीलता, संकल्प, सक्षम और अंतिम सूत्र है समर्पण। 


भागवत के अनुसार इन सभी सूत्रों का पालन करने पर भी यदि दाम्पत्य में प्रेम व पवित्रता नहीं है तो यह सब व्यर्थ है। इन सात सूत्रों का पालन कर तथा जीवन में प्रेम व पवित्रता को लाकर हम भी अपना गृहस्थ जीवन सुखमय बना सकते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You