जिस घर में होते हैं ये काम वहां बदकिस्मती कभी नहीं पसारती अपने पांव

  • जिस घर में होते हैं ये काम वहां बदकिस्मती कभी नहीं पसारती अपने पांव
You Are HereThe planets
Wednesday, February 15, 2017-11:29 AM

दिनचर्या में कुछ ऐसे काम शामिल होते हैं, जो प्राचीन परंपराओं का हिस्सा होते हैं। जिनका कोई आधार हमें ज्ञात नहीं होता, हम सिर्फ इसलिए उनका अनुसरण करते हैं क्योंकि हमारे बड़े उन चीजों को निभाते आ रहे हैं। ज्योतिषशास्त्री मानते हैं की इन कामों को जिस घर में हर रोज किया जाता है वहां बदकिस्मती कभी अपने पांव नहीं पसारती और दैवीय शक्तियां उस घर पर सदा मेहरबान रहती हैं। प्रात:काल उठते ही माता-पिता, गुरु एवं वृद्धजनों को प्रणाम नित्य करें। उनका आत्मिक आशीर्वाद प्राप्त करके नित्य सफलता प्राप्त करें।


यदि पलंग या खाट पर सोते हैं तो प्रात: काल उठते ही पृथ्वी को नम्र करें।


नित्य प्रति गाय को गुड़, रोटी दें। हो सके तो गाय का पूजन करके आज के दिन यह कामधेनु वांछित कार्य करेगी ऐसी भावना करें।


नित्य प्रति कुत्तों को रोटी खिलानी चाहिए। पक्षियों को दाना भी डालें तो शुभ है।


नित्य प्रति चील-कौओं को खाने-पीने की वस्तुओं में से कुछ हिस्सा अवश्य डालना चाहिए तथा गौ ग्रास भी भोजन करते समय नियमित निकालें।


घर आए अतिथियों की सेवा निष्काम भाव से करनी चाहिए। उनकी ओर से प्राप्त संदेश ध्यान से सुनकर योग्य संदेश का अनुकरण करना चाहिए।


हमेशा प्रात:काल भोजन बनाते समय माता-बहनें एक रोटी अग्निदेव के नाम से बनाकर घी और गुड़ से बृहस्पति भगवान को अर्पित करें तो घर में वास्तु पुरुष को भोग लग जाता है, इससे अन्नपूर्णा भी प्रसन्न रहती है।


प्रात: स्नान करके भगवान शंकर के शिवलिंग पर जल चढ़ाकर 108 बार ॐ नम: शिवाय’ मंत्र की पूजा से युक्त दंडवत नमस्कार करना चाहिए।


स्नान के पश्चात प्रात: सूर्यनारायण भगवान को लाल पुष्प चढ़ाकर बार-बार हाथ जोड़ कर नमस्कार करना चाहिए।

 

प्रात: काल सूर्य के सम्मुख बैठ कर एकांत में भगवत भजन या मंत्र या गुरु मंत्र का जाप करना चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You