गंगोत्री के आज बंद होंगे कपाट, केदारनाथ व यमुनोत्री के मंगलवार को

  • गंगोत्री के आज बंद होंगे कपाट, केदारनाथ व यमुनोत्री के मंगलवार को
You Are HereDharmik Sthal
Monday, October 31, 2016-11:33 AM

गंगोत्री व यमुनोत्री मंदिर समिति के तीर्थ पुरोहितों ने धामों के कपाट बंद होने की तैयारी पूरी कर ली है। आज गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए जाएंगे। वहीं यमुनोत्री और केदारनाथ मंदिर के कपाट 1 नवंबर भैया दूज को दिन बंद होंगे। आज अन्नकूट पर्व पर दोपहर करीब डेढ़ बजे विधि विधान के साथ गंगोत्री मंदिर के कपाट बंद किए जाएंगे। इसके साथ ही गंगाजी की भोग मूर्ति की डोली शीतकालीन पड़ाव मुखबा गांव के लिए रवाना होगी। भैया दूज के दिन एक नवंबर को मुखवा स्थित गंगा मंदिर में इसे स्थापित किया जाएगा। शीतकाल में यहीं पर मां गंगा की पूजा अर्चना होगी।

 

भैया दूज के दिन यमुनोत्री के कपाट होंगे बंद 
यमुनोत्री धाम के कपाट भी भैया दूज के दिन एक नवंबर को दोपहर 12 बजकर 15 मिनट पर बंद होंगे। यमुना जी की उत्सव मूर्ति शीतकालीन पड़ाव खरसाली गांव के लिए रवाना होगी। करीब पांच किलोमीटर का सफर तय करने के बाद इसे इसी दिन यमुनोत्री मंदिर में स्थापित कर दिया जाएगा। दोनों धाम के कपाट बंद होने के बाद श्रद्धालु शीतकालीन पड़ाव में मां यमुना के दर्शन खरसाली गांव और मां गंगा के दर्शन मुखबा में कर सकेंगे।

 

1 नवंबर को होंगे केदारनाथ के कपाट बंद
केदानाथ धाम के कपाट एक नवंबर को सुबह साढ़े आठ बजे बंद हो जाएंगे। तीन नवम्बर को बाबा केदार की चल विग्रह उत्सव डोली नगाड़ों के साथ अपने शीतकालीन गद्दीस्थल ओमकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में स्थापित की जाएगी। द्वितीय केदार मधमहेश्वर धाम के कपाट 22 नवम्बर को सुबह आठ बजकर 22 मिनट पर बंद होंगे। अपने चौथे पड़ाव में बाबा मधमहेश्वर की डोली भी ओमकारेश्वर मंदिर में पहुंचेगी।

 

बदरीनाथ के कपाट 16 नवंबर को होंगे बंद
भगवान विष्णु के प्रसिद्ध मंदिर बदरीनाथ के कपाट 16 नवंबर दोपहर तीन बजकर 45 मिनट पर बंद होंगे। इसके लिए 12 नवबंर से बदरीनाथ में पंच पूजाएं शुरू होगी। 
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You