गरुड़ पुराण:भूलकर भी न करें ये काम, रूठ जाती हैं देवी लक्ष्मी

  • गरुड़ पुराण:भूलकर भी न करें ये काम, रूठ जाती हैं देवी लक्ष्मी
You Are HereDharm
Monday, May 15, 2017-1:07 PM

हर व्यक्ति चाहता है कि देवी लक्ष्मी की उस पर कृपा बनी रहे क्योंकि जिस पर मां लक्ष्मी की कृपा होती है उसे जीवन में सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। लोग देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय करते हैं। लेकिन गरुड़ पुराण में ऐसे कार्यों का वर्णन किया गया है जिससे देवी लक्ष्मी मनुष्य तो क्या, भगवान विष्णु का भी त्याग कर देती हैं इसलिए व्यक्ति को ये कार्य भूलकर भी नहीं करने चाहिएं। 

कुचैलिनं दन्तमलोपधारिणं ब्रह्वाशिनं निष्ठुरवाक्यभाषिणम्।
सूर्योदये ह्यस्तमयेपि शायिनं विमुञ्चति श्रीरपि चक्रपाणिम्।।

इस श्लोक में ऐसे कार्यों के बारे में बताया है, जिनको करने वाले व्यक्ति से देवी लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं अौर उसका त्याग कर देती हैं। 

मैले वस्त्र पहनना
गरुड़ पुराण के अनुसार मैले अर्थात गंदे वस्त्र पहनने वालों को देवी लक्ष्मी त्याग देती है। कहने का तात्पर्य यह है कि साफ-स्वस्थ रहने से लोग आपसे मिलने में संकोच नहीं करेंगे। जिससे व्यापार करने वालों की भी जान-पहचान बढ़ेगी अौर उनके व्यापार में वृद्धि होगी। कार्यस्थल में व्यक्ति की स्वच्छता देखकर मालिक भी खुश रहेगा। इसके विपरीत गंदे वस्त्र पहनने से लोग आपसे दूरी बनाकर रहेंगे। जिसका असर व्यापार पर पड़ेगा। नौकरी पर मालिक आपको ऐसी अवस्था में देखकर कार्य से निकाल सकता है इसलिए गंदे वस्त्र नहीं पहनने चाहिएं।

दांतों को साफ न रखना
दातों के गंदे होने से व्यक्ति के स्वभाव अौर स्वास्थ्य का पता चलता है। इससे व्यक्ति के आलसीपन का पता चलता है। इस प्रकार के लोग अपने आलसी स्वभाव के कारण कोई भी जिम्मेदारी अच्छे से नहीं निभा पाते। इसके अतिरिक्त जिसके दांत गंदे होते हैं उसका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं रहता। गंदे दांत होने से पेट संबंधी अनेक रोगों का सामना करना पड़ता है। गंदे दांत होने से व्यक्ति के आलसी अौर रोगी होने की संभावना अधिक रहती है। इसके अतिरिक्त ऐसे लोगों को देवी लक्ष्मी छोड़ देती हैं। 

अधिक भोजन करने वाला
जो लोग अधिक भोजन करते हैं देवी लक्ष्मी उनका भी त्याग कर देती हैं। अधिक खाने वाले मोटे होते हैं। मोटे शरीर वाले आलसी होते हैं, जिसके कारण वे अच्छे से मेहनत नहीं कर पाते। इसके विपरीत जो लोग अधिक परिश्रम करते हैं देवी लक्ष्मी सदैव उनके साथ रहती हैं। 

दूसरों के साथ बुरा व्यवहार
जो लोग दूसरों के साथ बुरा व्यवहार करते हैं देवी लक्ष्मी उनका भी त्याग कर देती हैं। ऐसे लोग जो दूसरों पर चीखते-चिल्लाते अौर उन्हें अपशब्द कहते हैं देवी लक्ष्मी उनसे रुष्ट हो जाती हैं। जो लोग अपने नौकर या अन्य के साथ ऐसा व्यवहार करते हैं उनका स्वभाव क्रूर हो जाता है। ऐसे लोग जिनके अंदर किसी के लिए दया भाव न हो वे दूसरों की मदद नहीं करते। जो लोग दूसरों के मदद नहीं करते देवी लक्ष्मी उन्हें पसंद नहीं करती हैं। जिन लोगों के मन में दूसरों के लिए दया, प्रेम होता है उन पर भगवान का आशीर्वाद बना रहता है। इसके विपरीत कठोर वाणी का प्रयोग करने वालों को देवी लक्ष्मी त्याग कर देती हैं।

सूर्योदय या सूर्यास्त के समय सोने वाला
सूर्योदय का समय योग अौर सूर्यास्त का समय काम के लिए निश्चित होता है। इस समय पर सोने वाला व्यक्ति गैर जिम्मेदार अौर आलसी होता है। ऐसे लोग अपने जीवन में कुछ नहीं कर पाते अौर बिना परिश्रम के ही सब कुछ पाना चाहते हैं। जो लोग सूर्योदय अौर सूर्यास्त के समय सोते हैं देवी लक्ष्मी उन्हें त्याग देती हैं। इसके विपरीत जो लोग परिश्रम करते हैं उन पर देवी लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है।  

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You