यहां भक्तों को आशीर्वाद देता है एक बंदर

  • यहां भक्तों को आशीर्वाद देता है एक बंदर
You Are HereDharm
Monday, November 13, 2017-3:02 PM

राजस्थान में एेसे कई मंदिर हैं जो भक्तों की आस्था के प्रतीक मने जाते हैं। उन में से  एक मंदिर अजमेर के बजरंगगढ़ का हनुमान मंदिर है। अजमेर शहर में खूबसूरत आनासागर झील के नजदीक पहाड़ी पर हनुमान जी का ये मंदिर बहुत खास है, जहां भक्त नैसर्गिक वातावरण में भक्ति और आध्यात्मिक शांति के लिए पहुंचते हैं। इसे बजरंगगढ़ हनुमान मंदिर के नाम से जाना जाता है। यहां न सिर्फ हनुमान जी का आशीर्वाद मिलता है, बल्कि मंदिर परिसर से आनासागर और दौलतबाग के साथ ही अजमेर शहर के विहंगम दृश्य को भी देखा जा सकता है।इस प्राचीन मंदिर में हनुमान जी की जो प्रतिमा है, उसका मुंह खुला है। मान्यता है कि इससे भक्तों द्वारा अर्पित किया गया प्रसाद सीधे ही हनुमान जी के मुंह तक पहुंचता है। साथ ही यहां का विशेष आकर्षण रामू नाम का बंदर भी है। यह बंदर पिछले कई वर्षों से हनुमान के सच्चे भक्त के रूप में उनकी सेवा कर रहा है। यह रोजाना पैर धुलवाता है, तिलक निकलवाता है, पूजा करता है और भक्तों को आशीर्वाद भी देता है।

PunjabKesari

रामू मंदिर के चौकीदार औंकार सिंह के बेहद करीब है। औंकार सिंह के अनुसार रामू सात वर्ष पूर्व पहले यहां किसी मदारी से छूट गया था। जब रामू यहां आया तो वो पहुत बीमार था, औंकार ने रामू की बहुत सेवा की। समय के साथ साथ रामू और औंकार का रिश्ता गहरा होता चला गया। 

PunjabKesari

मंदिर के पुजारी बताते हैं कि रामू मंदिर के लिए बहुत ही शुभ है, वह साक्षात बाला जी के रूप में मंदिर की रक्षा करता है। मंदिर परिसर में काफी खुला स्थान है और यहां नारियल चढ़ाने का स्थान तथा कबूतरों को दाना डालने का स्थान बनवाया गया है। मंदिर तक जाने के लिए पहाड़ी पर सीढ़ियां बनी हैं। यहां पर लाल पत्थर लगे हैं, जिन पर बैठने की मनाही है।

PunjabKesari

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You