खुद मेें एेसे गुण पैदा करने से भविष्यवाणी को झुठला देगा इंसान

  • खुद मेें एेसे गुण पैदा करने से भविष्यवाणी को झुठला देगा इंसान
You Are HereDharm
Friday, April 14, 2017-2:17 PM

एक बार ज्योतिषियों ने भविष्यवाणी की कि सात साल तक उनके गांव में पानी नहीं बरसेगा। यह सुनकर सभी निराश हो गए और घर छोड़कर जाने लगे। एक किसान को अपने गांव से बहुत प्रेम था। अधिकतर लोग चले गए, किंतु वह वहीं डटा रहा। उसने सोचा कि सात साल तक वर्षा तो होने वाली नहीं है तो फिर हल वगैरह का क्या काम। उसने उन्हें उठाकर एक ओर रख दिया। सात दिन वह इसी सोच-विचार में बैठा रहा कि बिना पानी के वह गुजारा कैसे करेगा। उसने हल वगैरह तो एक ओर रख दिए किंतु यदि सात साल में वह उन्हें चलाना ही भूल गया तो क्या होगा। काफी सोच-विचार के बाद उसने एक निर्णय लिया और अपना हल उठाकर खेत जोतने लगा।

अब उसे मन में यह खुशी हो रही थी कि वह तो अपना काम करता ही रहेगा, इससे खेती का अभ्यास भी बना रहेगा। कई दिनों तक वह लगातार खेत जोतता रहा। इसी तरह से एक दिन जब वह खेत जोत रहा था तो एक बदली वहां से निकली। अभी तक ऐसी अनेक बदलियां वहां से बिना बरसे ही निकल चुकी थीं लेकिन यह वाली बदली किसान को देखकर रुकी और बोली, ‘‘किसान भाई, तूने सुना नहीं कि यहां पर सात साल तक पानी नहीं बरसेगा, फिर तू क्यों व्यर्थ ही खेत जोत रहा है?’’

बदली की बात पर किसान बोला, ‘‘मत बरसो, मैं तो खेत इसलिए जोतता हूं कि कहीं सात साल तक ऐसे ही बैठे-बैठे मैं खेत जोतना ही न भूल जाऊं।’’ किसान की बात सुनकर बदली हैरान हो गई और वह सोचने लगी कि कहीं सात सालों में मैं भी बरसना ही न भूल जाऊं। वह बरसने लगी। उसे बरसते देख अन्य बदलियां भी वहां इकट्ठी हो गईं और बदली की बरसना भूलने वाली बात सुनकर सभी उसका साथ देते हुए झमाझम बरस उठीं। इस प्रकार काम की आदत व मेहनत ने भविष्यवाणी को झुठला दिया। किसान की फसल खूब लहलहा उठी। धीरे-धीरे बाकी गांव वाले भी लौट आए और उनके गांव में एक बार फिर रौनक और खुशहाली हो गई।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You