राशि अनुसार करते रहें ये काम, पर्स और अकाऊंट रहेंगे नोटों से भरे

  • राशि अनुसार करते रहें ये काम, पर्स और अकाऊंट रहेंगे नोटों से भरे
You Are HereDharm
Monday, April 17, 2017-3:03 PM

राशि के जरिए यह जाना जा सकता है कि पैदा होने वाले जीव का स्वभाव कैसा होगा, आने वाले समय में जीव पर किस प्रकार से कौन-कौन से ग्रह का असर होगा। हमारे मनीषियों ने यह बताया है कि समय की सूक्ष्म से सूक्ष्म इकाई महत्वपूर्ण है। ग्रहों-नक्षत्रों की गति पल-पल बदलती रहती है और इसी के अनुसार हर प्राणी प्रभावित होता है। ग्रहों के प्रभाव से बचने के लिए राशि अनुसार करते रहें ये उपाय। पर्स और अकाऊंट रहेंगे नोटों से भरे एवं जीवन की तमाम समस्याओं का होगा अंत।


मेष
रात में लाल चंदन और केसर घिसकर उससे रंगा हुआ सफेद कपड़ा यदि आप अपने गल्ले अथवा तिजोरी में बिछाएंगे तो उससे आपकी समृद्धि में हमेशा वृद्धि होगी तथा आकस्मिक धनहानि का अवसर भी नहीं आएगा। 

शाम के समय घर के मुख्य द्वार पर तेल का दीपक जलाएं तथा उस दीपक में दो काली गुंजा डाल दें तो वर्ष भर आपको आर्थिक रूप से परेशानी नहीं होगी। आपका रुका हुआ धन भी जल्दी ही मिल जाएगा। 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ऐं क्लीं सौ:

 

वृषभ
यदि बहुत पैसा कमाने के बावजूद भी आप उसे सेविंग नहीं कर पा रहे हैं तो लक्ष्मी पूजन के साथ-साथ कमल के फूल का भी पूजन करें तथा बाद में इस फूल को लाल कपड़े में बांधकर अपने धन स्थान यानी तिजोरी या लॉकर में रखें।

रात गाय के घी के दो दीपक जलाकर उन्हें किसी एकांत स्थान अपनी मनोकामना बताते हुए पर रख आएं। शीघ्र ही आपकी हर मनोकामना पूरी हो जाएगी। 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ऐं क्लीं श्रीं


मिथुन
यदि आप धन की कमी से जूझ रहे हैं तो लक्ष्मी-गणेश पूजन करते समय दक्षिणावर्ती शंख की पूजा करके उसे अपने धन स्थान पर रखें। 

यदि आप कर्ज से परेशान हैं तो लक्ष्मी पूजन के बाद गणेशजी की प्रतिमा को हल्दी की माला पहनाएं। इससे आपकी परेशान समाप्त हो जाएगी। 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ क्लीं ऐं स:

 

कर्क
यदि आपको धन लाभ की अभिलाषा है तो शाम के समय पीपल के वृक्ष के नीचे तेल का पंचमुखी दीपक जलाएं।

यदि आप त्रिकोण आकृति का झंड़ा विष्णु भगवान के किसी मंदिर में ऊंचाई वाले स्थान पर इस प्रकार लगाएं कि वह लहराता रहे तो तक आपका भाग्य चमक उठेगा। 

कर्क राशि के लोग स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ क्ली ऐं श्रीं

 

सिंह 
रात घर के मुख्य दरवाजे पर गाय के घी का दीपक जला कर रखें। यदि वह दीपक सुबह तक जलता रहे तो समझें कि आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा साथ ही मान-सम्मान भी बढ़ेगा।

यदि शत्रु आपको परेशान कर रहे हैं तो दीपावली की शाम को पीपल के पत्ते पर अनार की कलम से गोरोचन के द्वारा शत्रु का नाम लिखकर भूमि में दबा दें। 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ह्रीं श्रीं सौं:

 

कन्या 
यदि आपको धन संबंधी कोई समस्या है तो आप लाल रुमाल में नारियल बांधकर अपने गल्ले अथवा तिजोरी में रखें। धन लाभ होने लगेगा। इसके दो कमलगट्टे की माला माता लक्ष्मी के मंदिर में दान अर्पित करें। 

यदि आपको नौकरी संबंधी कोई समस्या है तो आप तक रोज मीठे चावल कौओं को खिलाएं। इससे आपकी समस्या का निदान हो जाएगा।

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ श्रीं ऐं सौं


तुला 
यदि आपको व्यवसाय में घाटा हो रहा है तो आप बड़ के पेड़ के पत्ते पर सिंदूर व घी से ऊँ श्रीं श्रियै नम: मंत्र लिखें और इसे बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें।

लक्ष्मी की विशेष कृपा पाने के लिए तुला राशि के लोग सुबह स्नान आदि नित्य कर्म करने के बाद किसी लक्ष्मी मंदिर में जाकर 11 नारियल अर्पित करें। 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ह्रीं क्लीं श्रीं

 

वृश्चिक 
इस राशि के लोगों को यदि धन की इच्छा है तो वे अपने घर के बगीचे या बरामदे में केले के दो पेड़ लगाएं तथा इनकी देखभाल करें। परंतु इनके फल का सेवन न करें। 

यदि परिवार में अशांति है तो नागकेसर का फूल लाकर घर में कहीं छिपा दें। जहां उसे कोई देख न सके। 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ऐं क्लीं सौ:

 

धनु
इस राशि के लोग धन प्राप्ति के लिए पान के पत्ते पर रोली से श्रीं लिख कर अपने पूजा स्थान पर रखे तथा रोज इसकी पूजा करें।

यदि तुला राशि के लोग किसी बीमारी से परेशान हैं तो चंद्रमा को अर्ध्य दें और बीमारी के निवारण के लिए प्रार्थना करें। अमावस्या होने से चांद दिखाई नहीं देगा तो भी अर्ध्य दें।

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ह्रीं क्लीं सौ:

 

मकर
काफी समय से यदि धन रुका हुआ है तो आक की रुई का दीपक घर के ईशान कोण में जलाएं।

यदि विवाह में बाधा आ रही है तो भगवान विष्णु की पूजा करें और उन्हें पीला वस्त्र, पीली मिठाई अर्पित करें।

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ऐं क्लीं सौ:

 

कुंभ
जीवन साथी के साथ नहीं बनती है तो खीर बनाएं इसका भोग लक्ष्मी को लगाएं और फिर स्वयं भी खाएं। इससे दांपत्य जीवन में मधुरता आएगी।

धन प्राप्ति के लिए नारियल के कठोर आवरण में घी डालकर लक्ष्मीजी के समक्ष दीपक जलाएं। यह दीपक रात भर जलने दें 

स्फटिक या कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ह्रीं ऐं क्लीं श्रीं


मीन
यदि आपको शत्रु पक्ष से परेशानी हैं तो कर्पूर के काजल से शत्रु का नाम लिखकर अपने पैर से मिटा दें। 

धन लाभ के लिए किसी लक्ष्मी मंदिर में जाकर कमल के फूल, नारियल अर्पित करें तथा सफेद मिठाई का भोग लगाएं। 

कमलगट्टे की माला से इस मंत्र का जप करें- ऊँ ह्रीं क्लीं सौ:


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You