जिस वार को हुआ है आपका जन्म अवश्य करें यह काम, जानिए भविष्य और स्वभाव

  • जिस वार को हुआ है आपका जन्म अवश्य करें यह काम, जानिए भविष्य और स्वभाव
You Are HereDharm
Saturday, March 18, 2017-10:31 AM

सप्ताह के आरंभ से लेकर अंत तक सातों दिनों के कारक ग्रह अलग-अलग हैं। व्यक्ति के जीवन पर दिन (दिवस) का भी गहरा प्रभाव होता है। ज्योतिष विज्ञान के अनुसार व्यक्ति के जीवन पर दिन, नक्षत्र, समय आदि का काफी गहरा प्रभाव होता है, अतएव व्यक्ति को सप्ताह में एक दिन अपने जन्म वाले दिन ईश्वर का ध्यान अवश्य ही करना चाहिए। ज्योतिष विद्वान मानते हैं की जातक का जन्म जिस दिन हुआ होता है, उस दिवस के कारक ग्रह का प्रभाव व्यक्ति के संपूर्ण अस्तित्तव पर पड़ता है। जानिए स्वभाव और भविष्य से जुड़ी कुछ बातें..


सोमवार को चंद्रमा का दिन माना जाता है। इस दिन जन्म लेने वाला जातक सुंदर एवं गठीले शरीर का होता है। सामान्यत: इनकी लम्बाई कम होती है। सुंदर कटीली आंखें, गोल चेहरा, शरीर के सभी अंग भरे हुए, छाती चौड़ी एवं व्यक्तित्व आकर्षक होता  है। ऐसे जातक अपने को सजाकर रखना पसंद करते हैं। इनके लिए प्रेम का अर्थ सिर्फ प्रणय होता है। अपनी वाणी से दूसरों को मोहित कर लेने का इनमें विशेष गुण होता है। लिखने-पढऩे के व्यवसाय में इनकी रुचि होती है।


मंगलवार को जन्म लेने वाला जातक, दुबला-पतला, शरीर छरहरा एवं लम्बा तथा बाल लम्बे एवं दांतों की सुंदरता को धारण करने वाला होता है। इनका शरीर कमजोर अवश्य होता है किन्तु हृदय मजबूत होता है। ऐसे जातकों को खतरे से खेलने में आनंद आता है जिसके कारण जीवन की कठिनाई को आसानी से झेल लेते हैं। शिष्टता और अनुशासन इनके प्रिय हैं। अपने सिद्धांत पर अड़ कर उसके लिए वे अपनी जान तक दे सकते हैं। वे अपने क्षेत्र में अनेक र्कीतमान भी स्थापित करते हैं। 


बुधवार को जन्म लेने वाले जातक दुबले-पतले, कमजोर, साधारण रूप रंग लेकिन आकर्षक व्यक्तित्व, आंखें छोटी, होंठ चौड़े तथा पतले, साधारण लम्बाई के होते हैं। ऐसे लोग छोटे और हल्के  शरीर के कारण अत्यधिक   फुर्तीले, मानसिक रूप से तेज होने के कारण जल्द निर्णय लेने की क्षमता लेकिन हवाई महल बनाने जैसे ऊंचे सपने देखने वाले होते हैं। वे मेहनती और विचारवान भी होते हैं लेकिन यह सब इनके लिए कारगर नहीं होता। लिखने-पढऩे के व्यवसाय में झुकाव के कारण वे उसमें सफल होते हैं। ऐसे लोग विश्वासी चरित्र के होते हैं जिन पर सहसा ही विश्वास किया जा सकता है।


वीरवार को जन्म लेने वाले जातक का शरीर निश्चित तौर पर लम्बा-चौड़ा, आकर्षक और गोरा होता है। इनकी आंखें बड़ी-बड़ी, नाक-माथा और बाल सुंदर, शरीर स्वस्थ एवं आकर्षक होता है। सामान्यत: इनकी आयु लम्बी कही जाती है। ये विद्वान, ईमानदार एवं अवगुणों से दूर रहने वाले होते हैं। इनके मित्रों की संख्या अधिक होती है। ये अपने जीवन में सफल होते हैं। प्रकाशन व्यवसाय में सफल होते हैं। एक ओर ये अपने रहन-सहन के स्तर को बढ़ाने में माहिर होते हैं तो दूसरी ओर ये दानी भी होते हैं।


शुक्रवार वाला जातक प्राय: शरीर से दुर्बल होता है। इसके बावजूद वह आंतरिक रूप से मजबूत होता है। तामसी भोजन के प्रति इनका आकर्षण रहता है। ये व्यापार, भवन निर्माण और दस्तकारी में सफल रहते हैं। प्रखर बुद्धि वाले होते हैं किन्तु अपनी बुद्धि का सदुपयोग नहीं कर पाते। ये दानी प्रवृत्ति के होते हैं और प्रेम की ओर इनका झुकाव होता है। इन्हें फिजूल खर्ची से बचना चाहिए। इनमें संकटों से लडऩे की कुदरती क्षमता होती है।


शनिवार को जन्म लेने वाले जातक का रंग सांवला, शरीर लम्बा लेकिन काया दुबली-पतली होती है। इ नकी आवाज तेज व कर्कश होती है। जादू-टोना, तंत्र-मंत्र, धर्म और दर्शन में इनकी रुचि होती है। ये मेहनती एवं सफल होते हैं। धन अर्जन करने वाले, स्वभाव से जिद्दी, कंजूसी इनकी आदत होती है। ऐसे जातक राजनीति के शिखर पर भी पहुंच जाते हैं। कलम के धनी, खूबसूरती की ओर आकर्षण इनका एक गुण माना जाता है। 


रविवार को भगवान सूर्य का दिन माना जाता है। इस दिन जन्म लेने वाला जातक जीवन में आने वाले संकटों से कभी भी घबराते नहीं हैं। उसका चेहरा गोल, रंग साफ व सुंदर होता है। वह धर्म में रुचि रखने वाला, भयहीन, भावुक, साहसी, दानी तथा साफ हृदय का स्वामी होता है। स्पष्ट बोलना, ईश्वर में विश्वास रखना, माता-पिता की सेवा करना उसमें देखा जा सकता है। इस दिन जन्म लेने वाले जातक जीवन में ऊंचा पद पाते हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You