एकता व खुशियों का प्रतीक 'लोहड़ी'

  • एकता व खुशियों का प्रतीक 'लोहड़ी'
You Are HereDharm
Saturday, January 13, 2018-10:35 AM

जम्मू, (नि.स.): मौसम में बदलाव का प्रतीक लोहड़ी पर्व पारंपरिक श्रद्धा व हर्षोल्लास के साथ मनाने को लेकर बुजुर्गों, बच्चों के अलावा युवा वर्ग में काफी उत्साह पाया जा रहा है। पर्व को ध्यान में रखते हुए रेवड़ी, मूंगफली व गज्जक आदि से दुकानें सज गई हैं। खरीदारी करने के लिए ग्राहकों की भीड़ उमडना शुरू हो गई है। डोगरा संस्कृति के  अनुसार लोहड़ी पर्व पर लोग नन्हे-मुन्ने बच्चों को मूंगफली, रेवड़ी व अन्य मेवों का हार पहना कर बच्चों की लंबी आयु की कामना करते हैं। श्री भैड़ देवस्थान ट्रस्ट के महामंत्री रमेश शर्मा के अनुसार लोहड़ी का यह पर्व मौसम में बदलाव का प्रतीक है। अगले दिन मकर संक्रांति आती है। इन दोनों पर्वों को धूमधाम के साथ मनाना चाहिए। मान्यता है कि लोहड़ी त्यौहार के पश्चात सर्दी का मौसम धीरे-धीरे समाप्ति की ओर अग्रसर होता जाता है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You