बॉस की इस खूबी के आगे खुशी से झुकते हैं कर्मचारी

  • बॉस की इस खूबी के आगे खुशी से झुकते हैं कर्मचारी
You Are HereDharm
Friday, August 11, 2017-9:37 AM

एक कंपनी का बॉस यात्रा के दौरान गांव से गुजरा जिसमें उसकी कंपनी में काम करने वाले काफी लोग रहते थे। कुछ लोगों ने उन्हें अपशब्द कहने के साथ अभद्र व्यवहार करना शुरू कर दिया। इस पर बॉस ने कहा, ‘‘मैं कल आकर उत्तर दूंगा।’’


लोग बहुत हैरान हुए। उन्होंने बॉस से पूछा, ‘‘हमने तुम्हारा अपमान किया, तुम्हारे बारे में अभद्र बातें कहीं। तुम हमसे झगडऩे की बजाय कल आकर उत्तर देने की बात कर रहे हो।’’ 


बॉस ने कहा, ‘‘पहले मैं घर जाकर सोचूंगा कि तुम लोगों ने जो मेरा अपमान किया है, कहीं वह ठीक तो नहीं। हो सकता है तुम लोगों ने जो बुराइयां मुझ में बताई हैं, वे सचमुच मुझ में हों। इसीलिए पहले मैं जांच करूंगा, फिर कल आकर उत्तर दूंगा। इसमें झगड़ा कैसा।’’


बॉस की महानता गांव के लोगों को अब समझ में आ गई। अपने व्यवहार से लज्जित वे सभी उनके पैरों में गिर पड़े। बॉस के दिल में तो पहले से ही कोई उनके प्रति दुर्भावना नहीं थी। वह अपने रास्ते चला गया। कहने का तात्पर्य यह कि हमें किसी भी बात का तुरंत उत्तर देने की बजाय पहले उस बारे में विचार करना चाहिए। हो सकता है आप सही हों लेकिन गलत भी तो हो सकते हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You