सावन- भगवान शिव की पूजा से बढ़ाएं आमदनी

  • सावन- भगवान शिव की पूजा से बढ़ाएं आमदनी
You Are HereDharm
Sunday, July 09, 2017-9:40 AM

शास्त्रों में बताया गया है कि सावन महीना भगवान शिव का माह है। हिन्दी पंचांग के सभी बारह महीनों में श्रावण मास का विशेष महत्व माना जाता है, क्योंकि ये शिव जी की भक्ति का महीना है। इस महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त कई उपाय, अनेक मंत्र, स्तुति व स्रोतों का जाप करते हैं। सावन में हर रोज ऐसा करने से सभी समस्याओं का अंत हो जाता है। 


सावन के महीने में किसी भी दिन घर में पारद शिवलिंग की स्थापना करें और उसका यथा विधि पूजन करें। इसके बाद नीचे लिखे मंत्र का 108 बार जप करें-


ऐं ह्रीं श्रीं ऊं नम: शिवाय: श्रीं ह्रीं ऐं


प्रत्येक मंत्र के साथ बिल्वपत्र पारद शिवलिंग पर चढ़ाएं,  बिल्वपत्र के तीनों दलों पर लाल चंदन से क्रमश: ऐं, ह्री, श्रीं लिखें। अंतिम 108 वां बिल्वपत्र को शिवलिंग पर चढ़ाने के बाद निकाल लें तथा उसे अपने पूजन स्थान पर रखकर प्रतिदिन उसकी पूजा करें। धार्मिक पुराणों के अनुसार श्रावण मास में शिव जी को एक बिल्वपत्र चढ़ाने से तीन जन्मों के पापों का नाश होता है। 


पण्डित दयानन्द शास्त्री के अनुसार शिव ही एक मात्र ऐसे भगवान हैं जो प्रकृति से उत्पन्न किसी भी वस्तु को चढ़ाने से खुश होते हैं ।
1. बिल्व पत्र
2 आक के फूल
3 शमी के पत्ते
4 शमी के फूल
5 धतुरा 

यह 5 ऐसी वस्तुएं हैं जिनको भगवान शिव को चढ़ाने से हर कष्ट से मुक्ति मिलती है और सुख-सम्पदा, धन, यश और कीर्ति में वृद्धि होती है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You