Subscribe Now!

पुराने रिश्तों की नई शुरूआत करने का सबसे अच्छा अवसर है, ‘वैलेंटाइन्स डे’

  • पुराने रिश्तों की नई शुरूआत करने का सबसे अच्छा अवसर है, ‘वैलेंटाइन्स डे’
You Are HereDharm
Wednesday, February 14, 2018-8:09 AM

‘वैलेंटाइन्स डे’ 14 फरवरी यानी विश्वभर के प्रेमियों का दिन अनेक रूढिय़ों को तोड़ता और प्यार के दुश्मनों के विरोध का प्रतीक, नववर्ष के बाद एक महत्वपूर्ण दिन जब पूरी दुनिया प्यार में डूबी होती है। इस दिन एक-दूसरे से प्यार भरे वायदे किए जाते हैं और साथ प्रेम पत्रों और उपहारों का आदान-प्रदान भी होता है। इस परंपरा को मनाने का प्रचलन कैसे और कब हुआ, कोई नहीं जानता। बस इतना कहा जा सकता है कि किसी ने किसी को एक प्रेम संदेश के साथ एक उपहार भेजा होगा और शुरूआत हो गई होगी इस परंपरा की। एक मत के अनुसार यूरोप में यह मत प्रचलित था कि 14 फरवरी से पक्षी अपने जोड़े बनाने शुरू करते हैं, प्रेम के प्रतीक पक्षियों के प्रेमाचार को ध्यान में रखकर इसे मनाने की शुरूआत हुई। एक अन्य मत के अनुसार यह दिन दो संतों की शहादत को समर्पित है। कुछ भी हो, इस दिन का इंतजार दुनिया भर के प्रेमियों को रहता है।


क्या कहता है प्यार : प्यार एक पवित्र भावना है जहां तेरा-मेरा कुछ नहीं होता। प्यार के अहसास को केवल रूह से महसूस किया जा सकता है। आचार्य रामचंद्र शुक्ल कहते हैं, ‘‘प्रेम एक ऐसी संजीवनी शक्ति है जिससे संसार का हर दुर्लभ कार्य संभव हो सकता है। प्रेम एक नई ऊर्जा देता है और इसमें हारकर भी मनुष्य जीत जाता है। इतिहास के पन्नों में झांकें तो हमें कई अधूरी दास्तानें मिल जाएंगी जिन्होंने इश्क में अपनी जान दे दी क्योंकि समाज को उनका प्यार कबूल नहीं था। आज इंसान के पास खुद के लिए समय नहीं है, फिर भी आज कुछ लोग हैं जो प्रेम की खातिर ही जी रहे हैं और दुनिया को बेहतर बनाने में जुटे हैं। खोने-पाने से परे होकर सोचें तो प्यार का अहसास हर किसी के दिल में मौजूद होता है। कभी खामोश-सा अफसाना, कभी समाज से टकराता जुनूनी विचार, कभी उम्र भर की कसक तो कभी जिंदगी को कोई मकसद देता-यही है प्यार।’’


प्यार बस हो जाता है: दुनिया में इतने लोग हैं फिर भी जब कोई एक हमें प्यारा लगने लगे, वह खास हो जाता है। हमें लगता है कि वह केयरिंग है, हमारी भावनाओं की कद्र करेगा और हमारी रक्षा करेगा तो हम उसकी ओर आकर्षित हो जाते हैं। इसमें हमारे हार्मोंस भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। प्यार की चाहत की खुमारी को वही महसूस कर सकता है जो इस मखमली अहसास से गुजरता है। यह एक ऐसा अहसास है जिसे शब्दों में परिभाषित करना मुश्किल है। पहले लोग प्यार के इजहार में समय लेते थे, शर्माते थे, झिझकते थे और न सुनने के लिए भी तैयार रहते थे लेकिन आज के दौर में इसके इजहार के तरीके बदले हैं। प्यार का आसान-सा अर्थ है- भरोसे और जिम्मेदारियों से भरा अहसास लेकिन आज की जैनरेशन के लिए फोन पर सारी-सारी रात बातें करना, छोटी-छोटी बातों पर नाराज होना, महंगे गिफ्टस देना या हाथों में हाथ डाले घूमना भर है जबकि असल में प्यार जितना सरल दिखता है उससे अधिक उसकी डगर कठिन है।


वैलेंटाइन्स-डे पर बाजारों में बढ़ती रौनक: बाजारों में जगह-जगह दिल ही दिल दिखाई देने लगते हैं। लैटर-पैड, वैलेंटाइन्स-कार्ड्स, चॉकलेट्स और अन्य उपहार सब दिल की आकृति लिए सभी को अपनी ओर आकर्षित करते हैं। इन नयनभिराम पत्रों व उपहारों को खरीदने के लिए खूब भीड़ इकट्ठी होने लगती है। एक अजीब-सा प्रेम भरा वातावरण हो जाता है जो सभी को अपने में डुबो लेता है, जहां उदासी का कोई स्थान नहीं होता।


प्यार को नए मायने दें इस बार: प्यार एक खूबसूरत अहसास है जिसे हम अपने घर-परिवार में सबके साथ शेयर करके कई गुणा बढ़ा सकते हैं। इसकी गरिमा को बरकरार रखकर तोहफों का आदान-प्रदान कर हम अपने बड़े हो रहे बच्चों को मर्यादित तरीके से इस दिन के पहलू से अवगत करा सकते हैं। कई बार टीनएज बच्चे इस दिन को मनाने के नाम पर फूहड़ता की सीमाएं लांघ जाते हैं। ऐसे में उन्हें घर में ही जब वैलेंटाइन का सहज रूप देखने को मिलेगा तो वे समझ जाएंगे कि ये शालीन रिश्तों व घनिष्ठ मित्रों से अपने प्यार का प्रदर्शित करने का दिन है। भागदौड़ और रूटीन पर चल रही बोरिंग जिंदगी में अपनों को खास बनाने व अपना प्यार उजागर करने का दिन है- वैलेंटाइन-डे। दिल के आकार के बैलून्स व सॉफ्ट ट्वॉयज से घर को सजाएं व चॉकलेट्स परिवार संग एंज्वॉय करें। उन खूबसूरत पलों को जीते हुए कुछ यादें ताजा करें। हां, इस मौके पर अपनों को एक खूबसूरत-सा गुलाब देना न भूलें।


आज की युवा पीढ़ी को समझना होगा कि मूवीज या नॉवल्ज में जो भी पढ़ा या दिखाया जाता है उस प्यार से असफल में सब कुछ बहुत अलग होता है। अगर आप किसी को सच में अपना मानते हैं तो उसे बदलने की बजाय उसके गुणों व अवगुणों के साथ उसे स्वीकारें। बिना किसी उम्मीद उसका ख्याल रखें और उसके अच्छे के बारे में सोचें। अपनी गलती पर माफी मांगने से पीछे न हटें क्योंकि कभी-कभी पुराने रिश्तों की एक नई शुरूआत करने का यह सबसे अच्छा अवसर होता है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You