भारतीय सिख श्रद्धालु बैसाखी मनाने पहुंचे पाकिस्तान, अधिक जानकारी के लिए पढ़ें पूरी खबर

  • भारतीय सिख श्रद्धालु बैसाखी मनाने पहुंचे पाकिस्तान, अधिक जानकारी के लिए पढ़ें पूरी खबर
You Are HereDharm
Thursday, April 13, 2017-10:01 AM

ऐतिहासिक गुरुद्वारा श्री पंजा साहब (पाकिस्तान) में खालसा स्थापना दिवस बैसाखी मनाने के लिए 497 सिख श्रद्धालुओं  का जत्था आज पाकिस्तान के लिए रवाना हुआ। शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के सदस्य बलविन्द्र सिंह वेंईपूईं के नेतृत्व में 497 सिख श्रद्धालुओं के जत्थे को शिरोमणि कमेटी के तेजा सिंह समुद्री हाल से कमेटी के निजी सचिव सुखदेव सिंह भूरा कोहना और अतिरिक्त सचिव हरभजन सिंह ने पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा पंजा साहिब के लिए रवाना किया। जत्थे में श्री दरबार साहब के प्रबंधक जरनैल सिंह भी शामिल हैं। 


पत्रकारों से बातचीत करते हुए वेंईपूईं ने कहा कि पाकिस्तान स्थित गुरुधामों की यात्रा दौरान ऐतिहासिक गुरुद्वारों के प्रबंधों में यदि कोई कमी महसूस हुई तो इस संबंधी वह पाकिस्तान सरकार से अपील करेंगे। उन्होंने बताया कि इस बार पाकिस्तान को 515 यात्रियों के पासपोर्ट वीजा लगाने के लिए भेजे गए थे, जिनमें से 18 यात्रियों को वीजा नहीं मिला है।

 
यह जत्था पाकिस्तान स्थित गुरुद्वारा श्री ननकाना साहब, गुरुद्वारा डेरा साहब लाहौर, गुरुद्वारा रोड़ी साहब एमनाबाद जिला गुज्जरांवाला, गुरुद्वारा दरबार साहब करतारपुर नारोवाल और अन्य सम्बन्धित गुरुद्वारों के दर्शन कर 21 अप्रैल  को  वाघा-अटारी के रास्ते भारत वापस लौटेगा।


पाक में 150 लोगों को अमृत छकाएगी गुरुद्वारा कमेटी
दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से खालसा सृजना दिवस के अवसर पर पाकिस्तान में लगभग 150 लोगों को अमृत की दात दी जाएगी। वर्ष में 2 बार कमेटी द्वारा पाकिस्तान में अमृत संचार करवाने के लक्ष्य से एक जत्था आज पाकिस्तान के लिए रवाना किया गया। जत्थे के साथ जा रहे पंज प्यारों द्वारा गुरुद्वारा पंजा साहिब लाहौर में लोगों को अमृत छकाने की तैयारी की गई है। कमेटी अध्यक्ष मनजीत सिंह जी.के. ने गुरुद्वारा रकाबगंज साहिब में बैसाखी के अवसर पर पाकिस्तान स्थित पवित्र गुरुधामों के दर्शन करने जा रहे जत्थे को रवाना किया। इस मौके पर जी.के. ने बताया कि कमेटी द्वारा 169 यात्रियों का जत्था पूर्व कमेटी सदस्य गुरविन्दर पाल सिंह के नेतृत्व एवं अकाली नेता रविन्दरजीत सिंह की निगरानी में भेजा जा रहा है। जत्था अटारी बॉर्डर से पाकिस्तान में प्रवेश करने के बाद 21 अप्रैल को भारत वापस लौटेगा। 


बैसाखी पर पाकिस्तान पहुंचे 1,400 से अधिक भारतीय सिख 
बैसाखी के अवसर पर भारत के 1,400 से अधिक  सिख यहां पंजाब प्रांत के रावलपिंडी जिले के गुरुद्वारा हसन अब्दल में आयोजित समारोह में भाग लेंगे। ये सिख यात्री 3 विशेष रेलगाडिय़ों से यहां पहुंचे। बाघा रेलवे स्टेशन पर कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच उनका पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी व इवाकुई ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड के अधिकारियों ने स्वागत किया। बोर्ड के उपनिदेशक फर्ज अब्बास ने बताया कि वे आव्रजन और भोजन करने के बाद गुरुद्वारा पंजा साहिब के लिए रवाना हो गए। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You