आज का गुडलक देगा बिगड़े स्वास्थ्य में सुधार

You Are HereDharm
Thursday, August 17, 2017-8:48 AM

गुरुवार दिनांक 17.08.17 सिंह संक्रांति अर्थात घी संक्रांति पर्व मनाया जाएगा। यह कृषि से जुड़ा हुआ पर्व है। इस संक्रांति में सूर्यदेव स्वयं राशि सिंह में प्रवेश करते हैं। सूर्य को शास्त्रों में नारायण कहा गया है। इस संक्रांति पर सूर्य के नारायण स्वरूप पूजन का बड़ा महत्व है। इस संक्रांति पर गाय के घ्रत अर्थात गाय के शुद्ध घी का प्रयोग आवश्यक रूप से किया जाता है। सिंह संक्रांति पर गौ घ्रत के प्रयोग से तथा इसके विशेष पूजन से स्मरण शक्ति में वृद्धि होती है। बुद्धिबल बढ़ता है, ऊर्जा में वृद्धि होती है तथा ओज बढ़ाता है। सिंह संक्रांति के पर्व पर भगवान नारायण के विशेष पूजन से बिगड़े हुए स्वास्थ्य में शीघ्र सुधार आता है। 

विशेष पूजन: श्री नारायण के चित्र का विधिवत पंचोपचार पूजन करें। गौ घ्रत दीप जलाएं, चंदन धूप करें, हरिद्रा से तिलक करें, सूरजमुखी के फूल चढ़ाएं, बेसन के लड्डू का भोग लगाएं। 108 बार इस विशिष्ट मंत्र जपें। बेसन का लड्डू प्रसाद स्वरूप किसी विप्र को बाटें।

विशेष मंत्र: ह्रीं वसुप्रदाय सूर्यनारायणाय नमः॥

विशेष मुहूर्त: दिन 12:43 से दिन 12:51 तक।

महूर्त विशेष 
अभिजीत मुहूर्त: दिन 11:58 से दिन 12:51 तक।

अमृत काल: दिन 14:52 से शाम 16:21 तक।

यात्रा महूर्त: दिशाशूल - दक्षिण। राहुकाल वास - दक्षिण। अतः दक्षिण दिशा की यात्रा टालें।

विशेष वर्जित महूर्त: प्रातः सूर्योदय से लेकर दिन 12:43 तक भाद्रवास (स्वर्ग) पर रहेगा। भद्रा में शुभ कार्य वर्जित हैं।   

आज का गुडलक ज्ञान
गुडलक कलर: पीतांबरी।

गुडलक दिशा: उत्तर।

गुडलक टाइम: शाम 16:18 से शाम 17:09 तक।

गुडलक मंत्र: ॐ आदिभूताय नमः॥

गुडलक टिप:प्रोफेशनल सक्सेस हेतु पीली आभा लिए गाय को गुड चना खिलाएं।

गुडलक फॉर बर्थडे: सौभाग्य प्रति के लिए विष्णु मंदिर में गोल फल (सेब) चढ़ाएं।

गुडलक फॉर एनिवर्सरी: दंपति द्वारा विष्णु मंदिर में केले चढ़ाने से दांपत्य जीवन से रस बढ़ेगा।
आचार्य कमल नंदलाल
ईमेल: kamal.nandlal@gmail.com

 

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You