ऐसा मंदिर जहां चूहे करते हैं इच्छाधारी नाग की परिक्रमा

  • ऐसा मंदिर जहां चूहे करते हैं इच्छाधारी नाग की परिक्रमा
You Are HereDharmik Sthal
Thursday, October 20, 2016-9:30 AM

सांप अौर चूहों में कभी मित्रता नहीं हो सकती, लेकिन मध्यप्रदेश  में एक ऐसा स्थान है, जहां चूहे सांप की परिक्रमा करने पहुंचते हैं। राजा गंधर्वसेन ने मध्य प्रदेश के देवास जिले में एक भव्य मंदिर का निर्माण करवाया था। कहा जाता है कि जब से इस मंदिर का निर्माण हुआ है तब से यहां चमत्कार होते रहते हैं।

 

भारत की प्राचीन और ऐतिहासिक नगरी गंधर्वपुरी के गंधर्वसेन मंदिर के गुंबद के नीचे एक ऐसा स्थान है, जिसके बीचों-बीच पीले रंग का एक इच्छाधारी नाग विराजमान होता है। जिसके चारों ओर दर्जनों चूहे परिक्रमा करते हैं। इस स्थान को चूहापाली भी कहा जाता है। यह मंदिर हजारों वर्ष पुराना है।

 

स्थानीय लोगों के अनुसार नाग अौर चूहों को किसी ने अपनी आंखों से नहीं देखा है। लेकिन जब भी मंदिर का द्वार खोलते हैं तो परक्रमा वाले स्थान पर चूहों का मल अौर जहां पर नाग विराजमान होते हैं वहां पर उनका मल होता है। नाग अौर चूहों का मल कहां से आता है इसके बारे में कोई नहीं जानता। कहा जाता है कि ब्रह्म मुहूर्त में मंदिर से घंटियों की आवाजें भी आती है। पूर्णिमा और अमावस्या के दिन मंदिर में पीले रंग का नाग आता है। लोग मंदिर में श्रद्धा से पूजा करते हैं परंतु इस बात पर कितनी सच्चाई है इसके बारे में कोई नहीं जानता।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You