Subscribe Now!

CBSE ने की नई पहल , 24 घंटे में स्कूल देगें पेपर के बारे में फीडबैक

  • CBSE ने की नई पहल , 24 घंटे में स्कूल देगें पेपर के बारे में फीडबैक
You Are Hereeducation and jobs
Thursday, January 18, 2018-3:17 PM

नई दिल्ली: बोर्ड परीक्षाओं के दौरान अगर प्रश्न पत्र को लेकर स्कूल को परेशानी होती है तो वह अपना फीडबैक सीबीएसई को भेज सकेंगे। स्कूलों को परीक्षा समाप्त होने के 24 घंटे बाद प्रश्न पत्र को लेकर उन्हें अपनी राय, शिकायत या सुझाव देना होगा। बोर्ड की ओर से इसके लिए एक प्रोफॉर्मा भी स्कूलों को भेजा गया है। 

मार्च में होनी हैं 10वीं व 12वीं की परीक्षाएं
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने की दसवीं व बारहवीं की परीक्षाएं पांच मार्च में शुरू होने जा रही हैं। परीक्षा के दौरान यदि किसी प्रश्न पत्र को लेकर स्कूल को परेशानी हुई तो वह अपना फीडबैक सीबीएसई को भेज सकेंगे। विषय विशेषज्ञों की राय पर मार्किंग स्कीम तय करते समय स्कूलों की ओर से भेजे गए फीडबैक पर विचार भी किया जाएगा। सीबीएसई की मानें तो एग्जामिनेशन सिस्टम में निष्पक्षता रहना जरूरी है और उसी के लिए यह कदम इस बार उठाये जा रहे हैं।

पेपर के बारे में फीडबैक सीधे बोर्ड को भेजें
सीबीएसई की ओर से स्कूल प्रमुखों को भेजे गए पत्र में प्रश्न पत्र के संबंध में मीडिया में राय देने से बचने व प्रश्न पत्र को लेकर अपना अवलोकन सीधे बोर्ड को भेजने की सलाह दी है। बोर्ड ने स्कूलों के लिए जो प्रोफॉर्मा जारी किया है कि उसके मुताबिक स्कूल प्रश्न पत्र के विषय में राय दे सकेंगे। मसलन कोई प्रश्न पाठ्यक्रम से बाहर का तो नहीं था। कोई प्रश्न छात्र के स्तर के पार तो नहीं है। किसी प्रश्न में दोषपूर्ण अनुवाद तो नहीं या फिर किसी सवाल का गठन दोषपूर्ण तो नहीं है या किसी तरह की ओर कोई समस्या प्रश्न पत्र में तो नहीं हुई ।

बच्चों की समस्या जानना है बोर्ड का मकसद 
उल्लेखनीय है कि बोर्ड की ओर से परीक्षा समाप्त होने के बाद प्रश्न पत्र का आकलन कर छात्रों के रुख व स्कूलों की सिफारिशों के मद्देनजर मार्किंग स्कीम में बदलाव किए जाते हैं। बोर्ड का यह प्रयास रहता है कि ज्यादा से ज्यादा बच्चे पास हों और उन पर से परीक्षा का तनाव कम हो।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You