हर 5वां व्यक्ति किसी न किसी समिति का सदस्य : वीरभद्र

  • हर 5वां व्यक्ति किसी न किसी समिति का सदस्य : वीरभद्र
You Are HereHimachal Pradesh
Saturday, May 30, 2015-10:37 AM

शिमला: मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह ने शुक्रवार को हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक तथा राष्ट्रीय सहकारी कृषि एवं ग्रामीण बैंक सीमित के दीर्घकालीन अवधि के सहकारी ऋण ढांचे में सुधारों को लेकर आयोजित सम्मेलन में कृषि विकास बैंक से विभिन्न ऋण योजनाओं के अंतर्गत लोगों की आवश्यकताओं के अनुरूप अपनी गतिविधियों में विविधता लाने तथा कार्यप्रणाली में और अधिक पेशेवर रवैया अपनाने का आह्वान किया। उन्होंने बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली अन्य सुविधाएं उपभोक्ताआें को एक छत के नीचे प्रदान किए जाने की आवश्यकता को भी रेखांकित किया।

वीरभद्र सिंह ने कहा कि यह पहला मौका है, जब बैंक ने वर्ष 2014-15 के दौरान 9.72 करोड़ रुपए अर्जित करके समूचे घाटे की पूर्ति करने के साथ 4$27 करोड़ रुपए का लाभ अर्जित किया है। उन्होंने इस उपलब्धि के लिए बैंक के अध्यक्ष पंडित शिव लाल, निदेशक मंडल के सदस्यों, प्रबन्ध निदेशक और बैंक के कर्मचारियों की सराहना की। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश में 14 लाख सदस्यों के साथ विभिन्न 4500 सहकारी समितियां हैं और राज्य का हर 5वां व्यक्ति किसी न किसी समिति का सदस्य है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बैंक को किसानों की लम्बी अवधि की ऋण आवश्यकताआें को प्राथमिकता के आधार पर पूरा करना चाहिए। वीरभद्र सिंह ने कहा कि हि.प्र$ राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक 78 हजार से अधिक सदस्यों के साथ 33 शाखाआें के माध्यम से राज्य के 9 जिलों में कार्य कर रहा है। उन्होंने बैंक की कार्यप्रणाली पर संतोष व्यक्त किया। इससे पूर्व हि.प्र$  राज्य सहकारी कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के अध्यक्ष पंडित शिव लाल ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा बैंक की गतिविधियों के बारे विस्तृत जानकारी दी।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You