केंद्र सरकार की कार्रवाई से सेना का मनोबल बढ़ा : धूमल

  • केंद्र सरकार की कार्रवाई से सेना का मनोबल बढ़ा : धूमल
You Are HereHimachal Pradesh
Thursday, June 11, 2015-8:26 PM

हमीरपुर: पूर्व मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल ने 4 जून को सेना की टुकड़ी पर हमला करने के दोषी आतंकवादियों को भारतीय सेना द्वारा म्यांमार की सीमा के भीतर घुसकर नेस्तनाबूद करने की कार्रवाई पर प्रसन्नता व्यक्त की है। उन्होंने इस कार्रवाई में शामिल एनएसए के अधिकारियों, सैन्य अधिकारियों व सैनिकों को बधाई दी है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उनके सहयोगियों द्वारा लिए गए फैसले को ऐतिहासिक व साहसिक करार देते हुए धूमल ने कहा कि केंद्र के मजबूत नेतृत्व ने उच्च राजनीतिक इच्छा शक्ति दिखाते हुए आतंकवादियों को खत्म करने की जो कार्रवाई की है उससे जहां सेना के मनोबल में वृद्धि हुई है, वहीं आम देशवासियों का सिर भी गर्व से ऊंचा हो गया है और यह उन पड़ोसी देशों के लिए भी कड़ा संदेश है, जो अपनी सीमाओं में भारत के विरुद्ध आतंकी संगठनों को बढ़ावा देते हैं।

धूमल ने कहा कि भारतीय सेना की यह कार्रवाई उन सैनिकों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है जो उग्रवादियों के कायरतापूर्ण हमले के चलते शहीद हो गए थे, आज उन शहीदों को वापस तो नहीं लाया जा सकता परंतु उच्च राजनीतिक इच्छा शक्ति के चलते भारतीय सेना की इस कार्रवाई से उनके सम्मान और गौरव की बखूबी रक्षा की गई है। शहीदों के परिवार वाले भी आज राष्ट्रीय नेतृत्व की इस कार्रवाई से पूर्णरूपेण संतुष्ट हैं। एक लंबे समय के पश्चात देश की जनता को यह विश्वास हो गया है कि देश की रक्षा का दायित्व सुरक्षित हाथों में है। देश की रक्षा में शहीद हुए सैनिकों के परिवारों की सामाजिक सुरक्षा का दायित्व सरकार का है। उन्होंने प्रदेश सरकार से आग्रह किया कि सरकार आर्थिक सहायता के अतिरिक्त शहीदों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा भी उठाए ताकि वे सम्मान व गर्व से अपना जीवन व्यतीत कर सकें।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You