पिछली विफलताएं बाधक नहीं हैं: आेल्टमेंस

  • पिछली विफलताएं बाधक नहीं हैं: आेल्टमेंस
You Are HereHockey
Sunday, July 23, 2017-9:38 AM

बेंगलूरू: भारतीय हाकी टीम के कोच रोलेंट आेल्टमेंस ने आज कहा कि पिछले कुछ बड़े टूर्नामेंटों में मिली नाकामी भारतीय टीम को विश्व स्तरीय बनाने के उनके प्रयासों में बाधक नहीं है।

आेल्टमेंस ने बातचीत में कहा कि मैंने 4 साल पहले जब पदभार संभाला था, तब मैने टीम को प्रदर्शन में सुधार करते देखा था। टीम ने नाकामियां भी झेली है लेकिन यह भारत को विश्व स्तरीय बनाने के मेरे प्रयासों में बाधक नहीं है। भारतीय टीम मलेशिया में सुल्तान अजलन शाह कप के फाइनल में नहीं पहुंच सकी और डसेलडोर्फ आमंत्रण टूर्नामेंटमें 4 में से 1 ही मैच जीत सकी जबकि लंदन में हाकी विश्व लीग सेमीफाइनल में छठे स्थान पर रही। वहीं पिछले साल भारत ने चैम्पियंस ट्राफी में रजत पदक जीता था।  

आेल्टमेंस ने कहा कि मैं जब 2013 में आया तो मैंने पहली बात यही कही थी कि लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाली टीम बनने में 6 साल लगते हैं। यह चौथा साल है और 2 साल अभी बाकी है। उम्मीद है कि अगले डेढ साल में हम विश्व कप फाइनल्स के लिए तैयार हो जाएंगे। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You