Subscribe Now!

ले डूबे ट्रंप, पांच साल में दूसरी बार 'शटडाउन' हुआ अमेरिका

  • ले डूबे ट्रंप, पांच साल में दूसरी बार 'शटडाउन' हुआ अमेरिका
You Are HereInternational
Saturday, January 20, 2018-2:42 PM

वाशिंगटनः पांच साल बाद अमेरिका में फिर से शट डाउन का दौर शुरू हुआ है। इसके चलते अब पूरे देश में सरकारी कामकाज ठप जाएगा। सिक्योरिटी सेक्टर  को छोड़ बाकी जगहों के गैरजरूरी संघीय कर्मियों को छुट्टी पर भेजा जा रहा है। जिससे एक बार फिर अमेरिका में नौकरियों पर संकट छा गया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए यह बड़ा झटका है, क्योंकि यह संकट ऐसे वक्त आया है, जब पद संभाले हुए एक साल पूरे हो रहे हैं। इससे पहले 2013 में ओबामा के कार्यकाल में अमेरिका में शट डाउन हुआ था, जब एक फंडिंग बिल के मुद्दे पर सदन में पक्ष-विपक्ष के बीच गतिरोध पैदा हुआ था।

राष्ट्रपति ट्रंप और  कांग्रेस ने  शट डाउन को रोकने के लिए अपने स्तर से काफी कोशिश की। बावजूद इसके  अल्पकालिक विधेयक पास नहीं हो सका।  बिल पारित होने के लिए कुल सौ सदस्यीय सीनेट में 60 वोटों की दरकार थी मगर 50 वोट ही हासिल हुए। वजह कि रिपब्लिकन और डेमोक्रेट के बीच इस बिल के मुद्दे पर आम राय कायम नहीं हो सकी। सत्ताधारी रिपब्लिकन पार्टी के बहुमत वाली प्रतिनिधि सभा में तो यह बिल आसानी से पास हो गया, मगर सीनेट में रिपब्लिकन पार्टी का बहुमत होने के बावजूद इसे पारित होने के लिए विपक्षी डेमोक्रेट के सहयोग की जरूरत थी। मगर सहयोग और समर्थन नहीं मिल सका। 

क्या है अमेरिकी शटडाउन?
अमेरिका में एंटीडेफिशिएंसी एक्ट लागू है। इस एक्ट के तहत अमरीका में पैसे की कमी होने पर संघीय एजेंसियों को अपना कामकाज रोकना पड़ता है, यानि उन्हें छुट्टी पर भेज दिया जाता है। इस दौरान उन्हें सैलरी नहीं दी जाती। इसे सरकारी भाषा में शटडाउन कहा जाता है। 

अमरीका के शटडाउन से होंगे ये बड़े नुक्सान
- ट्रंप प्रशासन ने कहा कि मौजूदा समय में व्हाइट हाउस में 1, 715 स्टाफ हैं। शटडाउन के बाद इसकी संख्या 1000 की जाएगी। हालांकि, राष्ट्रपति ट्रंप को अलग से सपोर्टर दिए जाएंगे, ताकि वे अपने संवैधानिक   कर्तव्यों का पालन ठीक तरह से कर सकें
- आर्थिक संकट के बाद ट्रंप प्रशासन न्याय विभाग से स्टाफ कम कर सकता है। मौजूदा वक्त में अमेरिकी न्याय विभाग 1 लाख 15 हजार स्टाफ हैं। फिलहाल 95 हजार स्टाफ से ही काम चलाया जाएगा। कई      जजों और वकीलों को छुट्टी पर भेजा जा रहा है।
- शटडाउन के बाद भी नेशनल पार्क, लाइब्रेरी, लिंकन मेमोरियल और स्मिथसनियन म्यूजियम खुले रहेंगे। 2013 में हुए शटडाउन में अमेरिकी सरकार ने इन्हें अस्थायी तौर पर बंद रखा था। ऐसे में सरकार को    काफी नुकसान हुआ था।  
- अमरिकी शटडाउन का असर व्यक्ति की उन चीजों और सुविधाओं पर भी पड़ेगा, जिसका इस्तेमाल वे रोजमर्रा की जिंदगी में करते हैं. इसमें पेट्रोल, ग्रोसरी भी शामिल है।
- अगर सीनेट में ये बिल पास नहीं हुआ, तो मार्केट पॉलिसिंग सिक्योरिटीज़ और एक्सचेंज कमीशन के स्टाफ के एक हिस्से को भी बिना सैलरी छुट्टी पर भेजा जा सकता है।  हालांकि, यूएस सेंटर की ओर से चलाए जा रहे डिज़ीज़ कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (CDC) प्रोग्राम जरूर प्रभावित हुआ थ। ट्रंप प्रशासन के मुताबिक, इस बार भी कोशिश रहेगी कि यह सेक्टर प्रभावित न हो। फिर भी स्टाफ को आने वाले समय के लिए तैयार रहने का कहा गया है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You