श्रीलंका चाहता है कि मनमोहन चोगम सम्मेलन में भाग लें

  • श्रीलंका चाहता है कि मनमोहन चोगम सम्मेलन में भाग लें
You Are HereNational
Sunday, August 18, 2013-11:03 PM

नई दिल्ली: श्रीलंका ने आज कहा कि वह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को कोलंबो में चोगम की शिखरवार्ता में भाग लेने के लिए आमंत्रित करना चाहेगा। तमिलनाडु के राजनीतिक दल श्रीलंका में तमिलों के मानवाधिकार उल्लंघन के आधार पर प्रधानमंत्री के सम्मेलन में भाग लेने पर विरोध जता रहे हैं।

भारत आये श्रीलंका के विदेश मंत्री जी एल पीरीस ने यहां प्रधानमंत्री से अपनी मुलाकात की पूर्वसंध्या पर राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे की ओर से सिंह को आमंत्रित करने के संबंध में अपने देश की इच्छा जाहिर की।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं मुख्य रूप से निमंत्रण देने के उद्देश्य से यहां आया हूं।’’ पीरीस ने कहा कि करीब चौथाई सदी के बाद किसी एशियाई देश में चोगम की शिखरवार्ता हो रही है और हम चाहेंगे कि प्रधानमंत्री सिंह उसमें शामिल हों। यह बहुत महत्वपूर्ण है।

तमिलनाडु में राजनीतिक दलों द्वारा विरोध के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, ‘‘इस बारे में फैसले का अधिकार भारत है लेकिन हम भारत की ओर से सर्वोच्च स्तर पर सहभागिता चाहेंगे।’’ तमिलनाडु में सत्तारूढ़ अन्नाद्रमुक और विपक्षी द्रमुक ने केंद्र पर दबाव बनाते हुए मांग की है कि भारत राष्ट्रमंडल देशों के राष्ट्र प्रमुखों (चोगम) की शिखरवार्ता का बहिष्कार करे जो इस साल नवंबर में कोलंबो में आयोजित की जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You