7pics► भारत ने कराया चीन को ताकत का एहसास, लद्दाख में उतारा ‘सुपर हक्र्युलस’

You Are HereInternational
Wednesday, August 21, 2013-7:19 PM

नई दिल्ली: लद्दाख में भारत ने चीन को पहली बार अपनी ताकत का एहसास करवा दिया है। चीन से लगातार मिल रही वार्निंग को ठेंगा दिखाते हुए भारतीय वायुसेना ने आज तड़के लाइन ऑफ ऐक्चुअल कंट्रोल(एलएसी)से कुछ ही दूर दौलत बेग ओल्डी सेक्टर में  स्थित हवाई पट्टी पर अपना सी-130 जे सुपर हक्र्युलस एयरक्राफ्ट उतारा। लद्दाख में चीन की बढ़ती घुसपैठ की घटनाओं के बाद सुपर हक्र्युलस को एलएसी के साथ उतारने को चीन को संदेश देने के तौर पर देखा जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि चीन को जैसे ही सुपर हक्र्युलस को लद्दाख भेजने की भनक लगी, उसने विरोध जताना शुरू कर दिया था। चीन ने लद्दाख में सुपर हक्र्युलस को न उतारने के लिए भी भारत को चेताया था, लेकिन आज भारत ने चीन को ठेगा दिखाते हुए अपनी ही जमीन पर अपना विमान उतारा। वायुसेना के एक अधिकारी ने बताया कि सुपर हक्र्युलस कमांडिंग ऑफिसर ग्रुप कैप्टन तेजबीर सिंह और ‘वेल्ड वाइपर्स’ की टुकड़ी के साथ इस हवाई पट्टी पर उतरा। हालांकि बाद में ये वापस हिंडन एयरबेस लौट गया। अक्साई चीन इलाके के दौलत बेग ओल्डी सेक्टर की यह हवाई पट्टी 16614 फीट (5065 मीटर) ऊंचाई पर है। दौलत बेग ओल्डी भारतीय सेना की बेहद अहम पोस्ट है। यह चीन की ओर जाने वाले पुराने सिल्क रूट को जोड़ती है। 1962 में भारत-चीन युद्ध के दौरान भारतीय सेना ने यह बेस बनाया था। भारतीय वायुसेना और भारतीय सेना ने मिलकर इस बेस को फिर से ऐक्टिवेट किया। पिछले दिनों 43 साल बाद दो इंजन वाले एएन 32 एयरक्राफ्ट को यहां उतारा गया।

वहीं वायुसेना के अधिकारी के  इस मामले पर कहना है कि सुपर हक्र्युलस की मदद से वासुसेना-थलसेना को इस बेहद ऊंचाई वाली पोस्ट पर जरूरी साजो-सामान एकदम पहुंचाने में सक्षम होगी। अगर युद्ध होता है तो सैनिक टुकड़ी को इस पोस्ट तक मूव कराने में सुपर हक्र्युलस अहम किरदार निभाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You