भारत व चीन के बीच हुई 5वीं सामरिक वार्ता

  • भारत व चीन के बीच हुई 5वीं सामरिक वार्ता
You Are HereNational
Tuesday, August 20, 2013-7:49 PM

नई दिल्ली: पांचवीं भारत-चीन सामरिक वार्ता मंगलवार को नई दिल्ली में आयोजित की गई। भारतीय पक्ष का नेतृत्व विदेश सचिव सुजाता सिंह ने किया और चीनी पक्ष का नेतृत्व उप विदेश मंत्री लियू जेनमिन ने किया। इस दौरान द्विपक्षीय, क्षेत्रीय और आपसी हित के वैश्विक मामलों पर विचार-विमर्श किया गया।

चीनी प्रधानमंत्री ली किकियांग की सफल भारत यात्रा के बाद द्विपक्षीय संबंधों में हुई प्रगति का जायजा लेते हुए दोनों पक्षों ने सीमा पार नदी जल के उपयोग के संबंध में समझबूझ बढ़ाने तथा द्विपक्षीय व्यापार और निवेश के बढ़ाने, भारत-चीन सीमा क्षेत्रों में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति और प्रशांति कायम रखने के तरीकों पर चर्चा की।

विदेश मंत्रालय की आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, जन-जन संपर्क के साथ-साथ सांस्कृतिक सहयोग को बढ़ावा देने की विधियों तथा वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकीय सहयोग के विस्तार सहित अनेक मामलों पर भी विचार-विमर्श किया।

दोनों पक्षों ने प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह द्वारा इस वर्ष के अंत में चीन यात्रा की संभावना पर भी विचार-विमर्श किया तथा बीसीआईएम आर्थिक सहयोग की क्षमता और संभावना पर भी चर्चा की गई।

इसके अलावा, ब्रिक्स की रूपरेखा में भावी सहयोग, एशिया-प्रशांत क्षेत्र में एक खुली, व्यापक और पारदर्शी संरचना सुनिश्चित करने के तरीकों और वर्ष 2014 में और उसके बाद अफगानिस्तान के प्रति ²ष्टिकोण, दोनों पक्षों के बीच विचार-विमर्श के अन्य मुद्दे थे।

उप विदेश मंत्री लियू ने विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद से भी भेंट की। छठी भारत-चीन सामरिक वार्ता पारस्परिक रूप से सुविधाजनक समय पर बीजिंग में आयोजित की जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You