रिहा होने के बाद नजरबंद किए जाएंगे मुबारक

  • रिहा होने के बाद नजरबंद किए जाएंगे मुबारक
You Are HereInternational
Thursday, August 22, 2013-3:17 PM

काहिरा: मिस्र की एक अदालत ने पूर्व राष्ट्रपति होस्नी मुबारक की रिहाई के आदेश दिए हैं। अदालत ने यह फैसला उन पर लगे भ्रष्टाचार के आखिरी मामले में उनकी याचिका स्वीकार कर लिए जाने पर दिया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, उनकी रिहाई के बाद उन्हें नजरबंद रखा जाएगा। मुबारक को आहरम इंस्टीट्यूट के मामले में रिहा किया जाएगा जिसमें उनके बेटों के साथ उन पर सत्ता के दुरूपयोग करने और सूचना मंत्री के जरिए सरकारी संस्था से तोहफा लेने का आरोप लगाया गया था।

अदालन ने कहा, ‘मुबारक की उम्र को देखते हुए और उनके द्वारा तोहफे की कीमत 26.1 लाख डॉलर चुकाए जाने के बाद उन्हें जेल में रखना उचित नहीं है।’ इस फैसले के बावजूद मुबारक विदेश की यात्रा नहीं कर पाएंगे क्योंकि 2011 के अस्थिरता के दौरान प्रदर्शनकारियों की हत्या में उनके शामिल रहने के  मामले में दोबारा सुनवाई चल रही है। इस मामले में अगली सुनवाई शनिवार को होनी है। मुबारक के वकील फरीद अल-दीब ने कहा कि उन्हें गुरुवार को रिहा किया जा सकता है।

कानूनी मामलों के विशेषज्ञ अली माशाल्लाह ने कहा, ‘मुबारक पर अन्य आरोप लगाए जाने तक उन्हें रिहा किया जाएगा।’ माशाल्लाह ने कहा कि अभियोजन पक्ष ही उनकी अंतिम रिहाई का निर्णय करेगा। जेल से संबंधित मामलों के सहायक आंतरिक मंत्री मोस्तफा बाज ने कहा कि सरकारी दफ्तरों के बंद हो जाने की वजह से मुबारक बुधवार को रिहा नहीं किए जा सकते।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You