‘भारत पर्यटकों के लिए स्वर्ग, महिलाओं के लिए नरक’

  • ‘भारत पर्यटकों के लिए स्वर्ग, महिलाओं के लिए नरक’
You Are HereInternational
Thursday, August 22, 2013-4:15 PM

वाशिंगटन: शिकागो विश्वविद्यालय से पढ़ाई के सिलसिले में पिछले साल भारत दर्शन के लिए आई एक छात्रा ने स्वदेश लौटने के बाद अपनी भारत यात्रा को बेहद रोमांचक और खूबसूरत कहा है, लेकिन साथ ही उन्होंने देश के अंदर बढ़ते यौन उत्पीडऩ और बदतर हालात को भी उजागर किया है। वेबसाइट ‘सीएनएन आईरिपोर्ट’ में मिशेला क्रॉस की यात्रा रिपोर्ट ‘इंडिया : द स्टोरी यू नेवर वांटेड टू हियर’ प्रकाशित हुई है। आज दुनिया भर में मिशेला की रिपोर्ट की चर्चा हो रही है।

वेबसाइट के मुताबिक बुधवार सुबह तक 800,000 लोग क्रॉस की रिपोर्ट को पढ़ चुके हैं। सीएनएन में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार क्रॉस कहती हैं कि पहले उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि भारत यात्रा के अपने अनुभवों को वह किस तरह साझा करें। उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान वह सुखद और दुखदायी दोनों तरह के अनुभवों से गुजरीं। वह लिखती हैं, ‘क्या मुझे इस बात का जिक्र करना चाहिए कि भारत में अपने पहले ही दिन पुणे में हम लोगों के साथ गणेश महोत्सव में जमकर नाचे या फिर यह बताना चाहिए कि दरअसल कुछ अमेरिकी युवतियों के भीड़ में शामिल होकर नाचना शुरू करते ही बाकी सारे लोग घेरा बनाकर वीडियो फिल्म बनाने लगे।’

उन्होंने लिखा, ‘जब लोग भारत से खरीदकर लाए हुए मेरी सैंडलों की तारीफ करते हैं, तब क्या मुझे उन्हें यह बताना चाहिए कि सैंडल खरीदने के बाद एक व्यक्ति मेरे पीछे पड़ गया था और मुझे भरे बाजार में उस को डपटना पड़ा था।’ भारत में एक महिला होने के तौर पर अपने अनुभवों के बारे में क्रॉस लिखती हैं, ‘भारत में मैंने जो तीन महीने गुजारे उसके हिसाब से पर्यटकों के लिए भारत स्वर्ग और महिलाओं के लिए नरक है। मेरे साथ छेड़खानी, पीछा करना, भद्दे इशारे करना जैसी घटनाएं हुईं, इसके बावजूद मेरी भारत यात्रा बेहद रोमांचक रही।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You