बातचीत बंद करने के बजाय इसके सभी रास्ते खुले रखे जाएं: पाकिस्तान

  • बातचीत बंद करने के बजाय इसके सभी रास्ते खुले रखे जाएं: पाकिस्तान
You Are HereInternational
Thursday, August 22, 2013-8:57 PM

इस्लामाबाद: भारत के साथ बातचीत जारी रहने का समर्थन करते हुए पाकिस्तान ने आज कहा कि वार्ता के सभी रास्ते खुले रखे जाने चाहिएं क्योंकि बातचीत बंद करने से केवल उन लोगों का उददेश्य पूरा होगा जो दोनों देशों के बीच शांति नहीं चाहते।

पाकिस्तान ने कहा कि अगले महीने संयुक्त राष्ट्र महासभा के इतर कई मुद्दों पर चर्चा और विश्वास बहाली के लिए दोनों देशों के प्रधानमंत्रियों की मुलाकात हो सकती है।

विदेश विभाग के प्रवक्ता एजाज चौधरी ने कहा कि वार्ता रोकने या वार्ता कम करने से दोनों सरकारों या जनता को कोई फायदा नहीं होता है। इससे केवल उन तत्वों के उददेश्य पूरे होते हैं जो शांति नहीं देखना चाहते।

उन्होंने साप्ताहिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पाकिस्तान का स्पष्ट रुख है कि बातचीत जारी रहनी चाहिए। इस संवाददाता सम्मेलन में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन और भारत पाक वार्ता का मुद्दा उठा।

चौधरी ने कहा कि विश्वास बहाली की जरूरत है, ताकि गलतफहमी पैदा न हो। उन्होंने कहा कि अगले महीने भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के साथ संभावित बैठक का उपयोग करने का प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का प्रस्ताव इन बिन्दुओं को स्पष्ट रूप से प्रस्तुत करता है।
चौधरी ने कहा कि तनाव कम करने, विश्वास बहाल करने, संबंध सुधारने के लिए कदम उठाने की जरूरत है और मुझे लगता है कि विश्वास की कमी दूर करने में ये कदम मदद करेंगे। नियंत्रण रेखा पर संघर्षविराम उल्लंघनों पर उन्होंने कहा कि जांच के लिए रास्ते उपलब्ध हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You