बैचेन था बाप का मन, घर लौटा तो देखा हो रहा था बेटी से रेप

  • बैचेन था बाप का मन, घर लौटा तो देखा हो रहा था बेटी से रेप
You Are HereInternational
Friday, August 23, 2013-4:09 PM

कहते हैं इंसान को अपने मन की सुननी चाहिए और शायद लोग सही भी कहते हैं। अगर इस बाप ने भी अपने मन अपनी अंतरआत्मा की आवाज न सुनी होती तो शायद आज उसकी बेटी की जिंदगी बर्बाद हो सकती थी। जानकारी के अनुसार, काओ और उनकी पत्नी काम के सिललिसे में घर से बाहर गए हुए थे। उनकी 13 साल की बेटी उनसे मिलने आई हुई थी।

जब वह दोनो घर से बाहर काम के लिए गए तो बच्ची घर पर अकेली थी। फिर न जाने क्या हुआ कि काओ का काम में मन नही लग रहा था, उसका मन बैचेन था। इसलिए वह काम बीच में ही छोड़कर घर वापिस आ गया। जब काओ घर पहुंचा तो वहां का दृश्य देखकर हैरान रह गया। कोई उसकी बेटी के साथ रेप करने की कोशिश कर रहा था।

उसकी बेटी पूरी तरह से उस आदमी की गिरफ्त में थी। लेकिन काओ को देखते ही वह घबरा गया और भागने लगा, लेकिन काओ ने उसे पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस को पूछताछ में व्यक्ति ने बताया कि वह ता घर में चोरी करने के इरादे से आया था, लेकिन घर पर लड़की को अकेला देखकर उसकी नीयत खराब हो गई। इसलिए उसने लड़की के साथ रेप करने की कोशिश की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You