‘ईरान प्रतिबंधों के आगे नहीं झुकेगा’

  • ‘ईरान प्रतिबंधों के आगे नहीं झुकेगा’
You Are HereInternational
Sunday, August 25, 2013-3:49 AM

तेहरानः ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद-जावेद जाफरी ने शनिवार को कहा कि पश्चिमी देशों द्वारा लगाए गए प्रतिबंध उनके देश को न तो नीतियां बदलने के लिए बाध्य कर पाएंगे और न अधिकार छोडऩे पर मजबूर कर पाएंगे। तेहरान टाइम्स ने जाफरी के हवाले से कहा है, ‘‘प्रतिबंधों से लोगों पर दबाव बनता है, लेकिन ये दबाव ईरान को नीतियों में बदलाव के लिए बाध्य नहीं कर पाएंगे। पश्चिमी देशों को इस बात को समझ लेने की जरूरत है।’’

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, अमेरिका और उसके सहयोगियों ने ईरान के ऊर्जा और वित्तीय सेक्टरों पर प्रतिबंध लगा दिए हैं, ताकि ईरान यूरेनियम संवर्धन की अपनी गतिविधियां रोक दे। पश्चिमी देशों का मानना है कि ये गतिविधियां सैन्य कार्यक्रमों के लिए हैं, जबकि ईरान इसे शांतिपूर्ण उद्देश्यों के लिए और असैन्य कार्यक्रम बताता है।

जाफरी ने प्रतिबंधों के प्रभावों को स्वीकार किया, जिसका खामियाजा ईरानी अर्थव्यवस्था भुगत रही है। जाफरी ने कहा, हमारी जिम्मेदारी है कि जनता पर दबाव कम करें। प्रतिबंधों से आम जनता परेशान है, लेकिन लोग नहीं चाहते कि देश अपने अधिकार त्याग दे। जाफरी ने पश्चिमी प्रतिबंधों को अवैध करार दिया और कहा कि ईरान उनके साथ निपटने के लिए प्रतिबद्ध है।

ईरान के परमाणु कार्यक्रमों को लेकर उपजी चिंताओं के कारण ईरानी अर्थव्यवस्था और परमाणु प्रौद्योगिकी पर प्रतिबंध लगाए गए हैं। इस विचार पर टिप्पीण करते हुए जाफरी ने कहा, ‘‘हम नहीं मानते कि परमाणु हथियार हमें सुरक्षा प्रदान करते हैं। परमाणु हथियारों के लिए ईरानी सिद्धांत में कोई जगह नहीं है, और न तो यह देश को सुरक्षा प्रदान करता है, बल्कि यह हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा को एक खतरा ही है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You