ब्रिटेन: भारतीय मूल के दंपति को अस्पताल देगा बच्चे की मौत का मुआवजा

  • ब्रिटेन: भारतीय मूल के दंपति को अस्पताल देगा बच्चे की मौत का मुआवजा
You Are HereInternational
Sunday, August 25, 2013-1:37 PM

लंदन: अस्पताल की लापरवाही के कारण अपने नवजात बेटे की मौत के बाद न्याय के लिए चार वर्ष तक जद्दोजहद करने वाले भारतीय मूल के पिता को अस्पताल ने मुआवजा देना स्वीकार कर लिया है। कमलजीत सिंह के बेटे का जन्म अक्तूबर 2008 में मैनचेस्टर के सेंट मेरी अस्पताल में हुआ था। उस दौरान अस्पताल के कर्मचारियों ने ध्यान नहीं दिया और सिर में हुए जख्म के कारण उसकी मौत हो गई।

इस वर्ष अप्रैल में हुई इस घटना की जांच में यह बात सामने आई कि नवजात मनिंदर सिंह की हालत जन्म के वक्त की बहुत खराब थी। लेकिन उसके बाद कर्मचारियों ने उसके जन्म पर ध्यान नहीं दिया और उसकी हालत में सुधार के लिए कुछ नहीं किया। इससे नवजात की स्थिति और बिगड़ गई। नवजात के सिर में गंभीर जख्म हुए और कुछ महीनों बाद चार मई 2009 को उसकी मौत हो गई।

35 वर्षीय पिता कमलजीत ने ‘मैनचेस्टर इवनिंग न्यूज’ को बताया, ‘यह चार वर्ष मेरे परिवार के लिए तकलीफों से भरे हुए थे। हमने भयावह परिस्थितियों में अपना बेटा खो दिया।’ दंपति के दूसरे बच्चे की मौत के कुछ महीने बाद ही जनवरी 2010 में बच्चे की मां गीता की भी मौत हो गई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You