आंदोलन के लिए अन्ना को रामलीला मैदान में जाने की जरूरत नहीं: किरण बेदी

  • आंदोलन के लिए अन्ना को रामलीला मैदान में जाने की जरूरत नहीं: किरण बेदी
You Are HereNational
Thursday, August 29, 2013-4:08 PM

वाशिंगटन: मैगसेसे पुरस्कार से सम्मानित किरण बेदी का मानना है कि भ्रष्टाचार के विरोध में मुहिम छेडऩे वाले अन्ना हजारे के लिए फिर अपना आंदोलन शुरू करने के लिए रामलीला मैदान जाने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह मामला उच्चतम न्यायालय में लंबित है। किरण बेदी ने साथ ही इस बात पर बल दिया कि इससे हजारे के साथ उनका मतभेद नहीं झलकता है। पूर्व पुलिस अधिकारी ने कहा कि वह एवं हजारे के अन्य सहयोगी उन्हें रामलीला मैदान में वापस नहीं जाने के वास्ते उन्हें मनाने की कोशिश में लगे हैं। इसकी एक अन्य वजह उनका स्वास्थ्य भी है।

किरण बेदी ने प्रेस ट्रस्ट से कहा, ‘‘चूंकि यह मामला उच्चतम न्यायालय के समक्ष है। ऐसे में फिलहाल रामलीला मैदान में वापस जाने का कोई कारण नजर नहीं आता क्योंकि भारतीय संसद कह सकती है कि हम पहले ही उच्चतम न्यायालय में जवाब दे रहे हैं, तो ऐसे में क्यों न हम उच्चतम न्यायालय के आदेश का हम इंतजार कर लें।’’  यह हजारे के दृष्टिकोण से बिल्कुल विपरीत दृष्टिकोण है। कैपिटल हिल पर 22 अगस्त को एक स्वागत कार्यक्रमें हजारे ने कहा था कि यदि केंद्र सरकार वर्तमान सत्र में लोकपाल नहीं लाती है, तो वह संसद सत्र के शीतकालीन सत्र के पहले ही दिन रामलीला मैदान आंदोलन पर वापस जायेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You