अमेरिका पर साइबर हमला कर सकता है सीरिया

  • अमेरिका पर साइबर हमला कर सकता है सीरिया
You Are HereInternational
Thursday, August 29, 2013-10:36 PM

सैन फ्रांसिस्कोः एक तरफ अमेरिका और उसके सहयोगी देश वास्तविक दुनिया में सीरिया पर हमले को अमलीजामा पहनाने की तैयारी में उसके आस पास मिसाइलों और युद्धपोतों की तैनाती कर रहे हैं तो दूसरी तरफ सीरिया उससे वर्चुअल वर्ल्ड में युद्ध करने की तैयारी में जुटा है।

अमेरिका ने सीरिया पर हमला करने के संबंध में अपने बयानों में बस सख्ती ही दिखाई कि सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद के समर्थकों ने प्रमुख अंग्रेजी अखबार न्यूयार्क टाइम्स, सोशल नेटवर्किंग साइट ट्विटर और अंग्रेजी दैनिक हफिंगटन पोस्ट और कई मीडिया कंपनियों की वेबसाइटों को हैक करके उसे अपनी साइबर ताकत का नमूना पेश कर दिया। हालांकि मीडिया रिपोर्टों के अनुसार अमेरिकी युद्धपोतों के अपने आस पास हो रही तैनाती को देखकर सीरिया के लिये साइबर हमले को अंजाम देने वाली सीरिया इलेक्ट्रानिक आर्मी.सी. ने यह जवाबी कार्रवाई की।

साइबर सुरक्षा विशेषज्ञों के अनुसार यह स्थिति और भी गंभीर हो सकती है जिससे अमेरिका को चंद मिनट में ही अरबों डालर का नुकसान उठाना पड सकता है। सीरियाई साइबर सैनिकों ने गत अप्रैल में ही एसोशिएट प्रेस का टिवटर अकांउट हैक करके अमेरिका के राष्ट्रपति कार्यालय में बम विस्फोट होने की झूठी खबर फै लाई थी। अमेरिका का शेयर बजार इस अफवाह के कारण चंद मिनट में ही धराशाई हो गया और शेयर धारकों  को 100 अरब डालर का नुकसान उठाना पडा था। कुछ विशेषज्ञों के अनुसार सीरिया ये साइबर हमले ईरान, रूस आदि देशों की मदद से करेगा। सीरियाई साइबर सैनिकों का सर्वर रूस में स्थित है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You